S M L

डोमेस्टिक फ्लाइट्स के लिए अब आपका चेहरा बनेगा बोर्डिंग पास, ID Proof की भी जरूरत नहीं

इस नई सुविधा के तहत लोगों के चेहरे को स्कैन किया जाएगा, जिसके बाद वे बिना किसी अन्य डॉक्यूमेंट के फ्लाइट में आसानी से बैठ सकेंगे

Updated On: Oct 04, 2018 10:14 AM IST

FP Staff

0
डोमेस्टिक फ्लाइट्स के लिए अब आपका चेहरा बनेगा बोर्डिंग पास, ID Proof की भी जरूरत नहीं

फ्लाइट्स से सफर करने वाले लोगों को जल्द ही बड़ी राहत मिलने वाली है. लोगों को अब डोमेस्टिक फ्लाइट्स के लिए कोई आईडी प्रूफ या बोर्डिंग पास अपने साथ लेने की जरूरत नहीं होगी क्योंकि अब उनका आईडी प्रूफ खुद उनका चेहरा होगा.

इस नई सुविधा के तहत लोगों के चेहरे को स्कैन किया जाएगा, जिसके बाद वे बिना किसी अन्य डॉक्यूमेंट के फ्लाइट में आसानी से बैठ सकेंगे.

कहां- कहा लागू होगी सुविधा?

इस पेपरलेस एंट्री को सबसे पहले दिल्ली मुंबई, हैदराबाद और बेंगुलुरु के साथ साथ एएआई के तहत आने वाले चार एयरपोर्ट वाराणसी, विजयवाड़ा, पुणे और कोलकाता में भी लागू किया जाएगा.

दिगियात्रा के तहत उपलब्ध होने वाली सुविधा को एएआई के चार एयरपोर्ट में 5-6 महीने के अंदर लागू कर दिया जाएगा. वहीं अन्य एयपोर्ट्स में भी सेवा जल्द ही लागू कर दी जाएगी.

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक एक सूत्र ने बताया कि आंख की पुतली और अंगूठे के निशान के बजाए फेस रिकॉग्निशन को प्राथमिक्ता दी गई है. उन्होंने बताया कि ये नियम दुनियाभर में हैं.

हालांकि ये सुविधा लोगों के अनिवार्य नहीं होगी. देश के अंदर ही सफर करनेवाले लोग अगर चाहे तो इस सुविधा का लाभ उठा सकते हैं.

कैसे उपलब्ध होगी ये सुविधा?

इस सुविधा का लाभ उठाने के लिए लोगों को एविएशन मिनीस्ट्री पोर्टल पर रजिस्टर करना होगा. रजिस्ट्रेशन के लिए पासपोर्ट, ड्राविंग लाइसेंस याफिर आधार जैसे कोई आईप्रूफ की जरूरत होगी. इसके बाद पहली बार एयरपोर्ट जाने पर आपके फेशियल रिकॉग्निशन लिया जाएगा. जिसके बाद कभी भी एयरपोर्ट जाने पर आपका चेहरा ही आपका बोर्डिंग पास और आईप्रूफ बन जाएगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi