विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

जानिए मौत के बाद क्या होता है सोशल मीडिया अकाउंट्स का

जानिए प्राइवेसी कॉन्टेक्ट के तहत आपको गूगल, फेसबुक और टि्वटर से क्या विकल्प मिलते हैं

FP Staff Updated On: Jul 16, 2017 06:33 PM IST

0
जानिए मौत के बाद क्या होता है सोशल मीडिया अकाउंट्स का

भारत में 46.2 करोड़ आबादी इंटरनेट का इस्तेमाल करती है. इनमें से 24 करोड़ से ज्यादा लोगों का फेसबुक पर अकाउंट मौजूद है. लेकिन क्या कभी सोचा है कि सोशल मीडिया साइट्स किसी यूजर की मौत के बाद उसके अकाउंट का क्या करती है?

जानिए प्राइवेसी कॉन्टेक्ट के तहत आपको गूगल, फेसबुक और टि्वटर से क्या विकल्प मिलते हैं? उसमें मौजूद जानकारी, फोटो, वीडियो और दूसरी फाइल को क्या कोई एक्सेस कर सकता है या नहीं?

Social-Death3

Gmail और गूगल प्लस

गूगल कंपनी उपभोक्ता को 'inactive account manager' नामक टूल देती है. इससे हम मैनेज कर सकते हैं कि मौत के बाद अकाउंट का क्या हो? 6 या 12 महीने जैसी एक तय सीमा में इनेक्टिव रहने पर आपके अकाउंट का सारा डाटा ऑटोमेटिक डिलीट हो जाएगा. इसके अलावा किसी व्यक्ति को नॉमिनेट किया जा सकता है, जिसे मौत के बाद आपके मेल मिलते रहेंगे.

Social-Death4

Twitter

किसी व्यक्ति की मौत के बाद अगर उससे जुड़ा कोई शख्स टि्वटर को इसकी जानकारी देता है तो अकाउंट डिएक्टिवेट कर दिया जाता है. हालांकि ऐसा करने के लिए मृत्यु प्रमाण पत्र जरूरी है. कंपनी इसके अलावा कई जानकारियां मांगती है और फॉर्म भरवाती है. जानकारी देने के 30 दिनों के अंदर टि्वटर कार्रवाई कर अकाउंट बंद कर देता है.

Social-Death2

Facebook

फेसबुक लीगेसी कॉन्टेक्ट का विकल्प देता है. किसी शख्स की मौत के बाद किसी को अकाउंट एक्सेस की इजाजत नहीं देती. लेकिन उस शख्स के दोस्त फेसबुक से अकाउंट को memorialized' करने की रिक्वेस्ट कर सकते हैं. मौत के बाद उस अकाउंट को 'people you may know' या 'suggesting friends' लिस्ट में भी नहीं दिखाया जाता है.

(साभार: न्यूज़18)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi