S M L

पाक गई भारतीय महिला ने इस्लाम कबूल कर की दूसरी शादी, ISI से जुड़ने का शक

पाकिस्तान के लाहौर में एक स्थानीय व्यक्ति से कथित रूप से दूसरी शादी करने वाली 32 वर्षीय महिला के ससुर ने उसकी सुरक्षित भारत वापसी के लिए केंद्र सरकार से हस्तक्षेप की मांग की

Updated On: Apr 20, 2018 09:37 AM IST

Bhasha

0
पाक गई भारतीय महिला ने इस्लाम कबूल कर की दूसरी शादी, ISI से जुड़ने का शक

पाकिस्तान के लाहौर में एक स्थानीय व्यक्ति से कथित रूप से दूसरी शादी करने वाली 32 वर्षीय महिला के ससुर ने उसकी सुरक्षित भारत वापसी के लिए केंद्र सरकार से हस्तक्षेप की मांग की. होशियारपुर की रहने वाली किरण बाला के ससुर तरसेम सिंह ने उसके पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ‘इंटर-सर्विसेज इंटेलीजेंस’ (आईएसआई) के चंगुल में फंसने और उसे जबरन इस्लाम में धर्मांतरित करा फिर से शादी कराने का अंदेशा जताते हुए केंद्र से दखल की मांग की.

यह महिला एसजीपीसी के सिख जत्थे के साथ बैसाखी उत्सव में शिरकत करने के लिए पाकिस्तान गई थी. तरसेम ने कहा, मैंने बहू किरण बाला को सिख जत्थे के साथ बैसाखी मनाने की खातिर पाकिस्तान जाने के लिए 10 अप्रैल को अमृतसर में छोड़ा था. वह उस वक्त बहुत खुश थी. सिखों के शीर्ष निकाय, शिरोमणि गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी (एसजीपीसी) ने पाकिस्तान में बैसाखी मनाने के लिए वहां एक जत्था भेजा था.

एसजीपीसी के एक वरिष्ठ अधिकारी नेकहा कि कमेटी ने रिपोर्ट मांगी है कि किन परिस्थितियों में महिला जत्थे से अलग हो गई. उन्होंने कहा, पाकिस्तान में जत्थे की अगुवाई कर रहे अधिकारियों से हमने पूरे मामले की रिपोर्ट मांगी है. यह मामला एसजीपीसी की कल होने वाली कार्यकारी समिति की बैठक में भी उठ सकता है. तरसेम ने बताया कि उन्हें विदेशी मीडिया के कुछ पत्रकारों का फोन आया जिसमें उन्होंने कहा कि उनकी बहू ने इस्लाम धर्म अपना लिया है और लाहौर में फिर से शादी कर ली है.

यहां गढ़शंकर के रहने वाले तरसेम ने कहा कि इस बात की कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है कि उनकी बहू ने इच्छा से इस्लाम धर्म स्वीकार कर लाहौर के एक निवासी से शादी की है. 70 वर्षीय बुजुर्ग ने यह भी कहा कि उनकी बहू ने 16 अप्रैल को फोन करके उन्हें बताया था कि उसने पाकिस्तान में शादी कर ली है. उन्होंने कहा, मैं समझा कि वह मजाक कर रही है और मामले को संजीदगी से नहीं लिया. विदेशी मीडिया के पत्रकारों की कॉल आने के बाद अब वह लापता है. मैं हैरान हूं.

उन्होंने संदेह जताया कि वह शायद पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के चंगुल में फंसी हो सकती है. तरसेम ने कहा कि वह कुछ लोगों के साथ सोशल मीडिया के जरिए भी संपर्क में रही हो सकती है. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से बहू की सुरक्षित वापसी सुनिश्चित करने का आग्रह किया. तरसेम ने कहा कि जत्थे के सदस्यों की सुरक्षा की जिम्मेदारी एसजीपीसी की थी.

किरण बाला के पति नरिंदर कुमार की 2013 में एक सड़क हादसे में मौत हो गई थी. उसके तीन बच्चे हैं, जिनमें 12 साल की एक बेटी और आठ तथा छह साल के दो बेटे हैं. तरसेम ने कहा कि वह यहां एक खुशहाल जीवन बिता रही थी और अपने बच्चों से बहुत प्यार करती है. पाकिस्तान में मीडिया रिपोर्टों में कहा गया है कि किरण ने लाहौर में एक व्यक्ति से शादी करने के बाद अपना वीजा बढ़ाने की मांग की है.

किरण ने पाकिस्तान के विदेश दफ्तर को कथित रूप से पत्र लिखा है कि उसने 16 अप्रैल को जामिया नइमीया मदरसे में आयोजित एक समारोह में लाहौर निवासी मोहम्मद आज़म से शादी की है , लिहाजा उसका वीजा बढ़ाया जाए. रिपोर्टों में बताया गया है कि उसने अपना नाम बदलकर आमना बीबी कर लिया है और विदेश मंत्रालय को लिखे पत्र में भी इसी नाम से हस्ताक्षर किए हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi