विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

धार्मिक स्थल, स्कूल और आबादी वाली जगहों पर नहीं खुलेंगे ठेके: श्रीकांत शर्मा

हम जन-भावनाओं का सम्मान करते हैं लेकिन जनता से अनुरोध है कि, कोई कानून को हाथ में ना ले

Bhasha Updated On: Apr 07, 2017 07:59 PM IST

0
धार्मिक स्थल, स्कूल और आबादी वाली जगहों पर नहीं खुलेंगे ठेके: श्रीकांत शर्मा

उत्तर प्रदेश सरकार ने शुक्रवार को स्पष्ट किया कि धार्मिक स्थानों, स्कूलों के आसपास और आबादी वाली जगहों पर शराब की दुकान नहीं खुलने दी जाएगी.

प्रदेश के उर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने संवाददाताओं से कहा, ‘सुप्रीम कोर्ट ने नेशनल हाइवे पर मौजूद शराब की दुकानें हटाने के आदेश दिए थे. सरकार सुनिश्चित करेगी कि वहां से हटी दुकानें आबादी वाले क्षेत्रों, धार्मिक स्थान और स्कूलों के पास ना हों.’

शर्मा ने कहा, ‘इस बात के सख्त आदेश दिए गए हैं कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश का अनुपालन हो. आबकारी सचिव और अन्य अफसरों को हिदायत दी गई है कि आवासीय क्षेत्रों, धार्मिक जगहों और स्कूलों के आसपास शराब के ठेके ना खुलें.'

उन्होंने कहा, ये निर्देश भी दिए गए हैं कि अगर कोई शराब की दुकान नियम-कानून का पालन नहीं कर रही है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाए.

A glass of cognac is pictured on a bar in the Manhattan borough of New York City, November 13, 2015. France's centuries-old cognac houses are raising their bets on the U.S. market with new products and campaigns to broaden the drink's appeal beyond its African American stronghold. The big four producers -- LVMH Moet Hennessy, Remy Cointreau, Pernod Ricard and Beam Suntory -- have turned more of their attention to the U.S. following a drop in sales in China after an anti-graft campaign. To match story USA-COGNAC Picture taken November 13, 2015. REUTERS/Mike Segar - RTX1V92O

शिकायत करें, कानून हाथ में न लें

शर्मा ने कहा, ‘अगर कहीं स्कूल, धार्मिक स्थान और आबादी वाले क्षेत्र में शराब की दुकान है तो अविलंब जिलाधिकारी को शिकायत करें. इसके बाद ऐसी शराब की दुकानों के खिलाफ कार्रवाई होगी लेकिन तोड़फोड़ और आगजनी बिलकुल गलत है. हमारी जनता से अपील है कि वह कानून को हाथ में ना ले.’

उन्होंने कहा, ‘हम जन-भावनाओं का सम्मान करते हैं लेकिन साथ ही अनुरोध है कि कोई कानून को हाथ में ना ले. ये सरकार कानून से चलने वाली सरकार है. पहले की सरकारों की तरह शिकायत ठंडे बस्ते में नहीं जाएगी बल्कि शिकायत पर कार्रवाई की जाएगी.'

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi