S M L

शिमला: पानी आए या ना आए, बिल तो देना पड़ेगा

नगर निगम ने शहर में करीब 23 हजार उपभोक्ताओं को ऑटोमिक वॉटर बिल स्थापित कर दिए हैं

Updated On: May 10, 2018 10:19 PM IST

FP Staff

0
शिमला: पानी आए या ना आए, बिल तो देना पड़ेगा
Loading...

हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में तीसरे दिन पानी की सप्लाई आती है. मौजूदा समय में हालाता ऐसे हैं कि कई जगह पांचवें दिन पानी आया है. इसी बीच नगर निगम अब उपभोक्ताओं से हर माह पानी का बिल वसूलेगा.

हालांकि, खास बात यह है कि शिमलावासियों को पानी के फ्लैट दरों से मिलने वाले पानी के बिल से जल्द निजात मिलने वाली है. नगर निगम शिमला अब हर माह मीटर रीडिंग के आधार पर पानी के बिल जारी करेगा.

निगम अप्रैल के बिल को इस माह से जारी कर रहा है. इसके लिए निगम ने यह प्रक्रिया शुरू कर दी है. नगर निगम ने शहर में करीब 23 हजार उपभोक्ताओं को ऑटोमिक वॉटर बिल स्थापित कर दिए हैं.

मेयर कुसुम सदरेट ने बताया कि वाटर मीटर लगने से उपभोक्ताओं को उतना ही पानी का बिल चुकाना पड़ेगा, जितना पानी वो इस्तेमाल करेगा. नए वॉटर मीटर लगने से उन उपभोक्ताओं को सीधा फायदा होगा, जो पानी का कम इस्तेमाल करते हैं. फिलहाल एमसी शहरवासियों को फ़्लैट रेट के आधार पर एक समान पेयजल बिल जारी करता है.

23 हजार पेयजल उपभोक्ता हैं

मेयर कुसुम सदरेट ने बताया कि नए वॉटर मीटर लगने से जहां उपभोक्ताओं को फायदा होगा. वहीं, पेयजल की बर्बादी पर भी लगाम लगेगी. उन्होंने बताया कि अब शहर के करीब 23 हजार पेयजल उपभोक्ताओं को मीटर रीडिंग के आधार पर बिल जारी किए जा रहे हैं, ताकि शहरवासी पानी का सही उपयोग कर सके.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi