S M L

देश में 60% युवा फिर भी संसद और कैबिनेट में उम्रदराज लोगों की तादाद ज्यादा: थरूर

कांग्रेस नेता ने कहा कि राजनीति में युवाओं की भागीदारी होनी चाहिए क्योंकि यह देश के भविष्य के लिए अच्छा है

Updated On: Jan 18, 2019 10:29 AM IST

Bhasha

0
देश में 60% युवा फिर भी संसद और कैबिनेट में उम्रदराज लोगों की तादाद ज्यादा: थरूर

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और सांसद शशि थरूर ने कहा है कि युवाओं को देश की राजनीति में बढ़ चढ़ कर हिस्सा लेना चाहिए क्योंकि देश का भविष्य ही उनका भविष्य है.

दरअसल थरूर छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के पंडित दीनदयाल उपाध्याय सभागार में ऑल इंडिया प्रोफेशनल्स कांग्रेस की तरफ से 'द यंग एंड द रेस्टलेस: द फ्यूचर ऑफ पॉलिटिक्स' विषय पर आयोजित कार्यक्रम में बात कर रहे थे. यहां उन्होंने कहा,  युवाओं को देश के भविष्य के बारे में सोचना चाहिए क्योंकि देश का भविष्य ही उनका भविष्य है.

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने कहा कि युवा वर्ग चाहता है कि देश में बेहतरी के लिए जल्द से जल्द बदलाव आना चाहिए क्योंकि इसका लाभ उन्हें मिलेगा. युवाओं की इन भावनाओं का सम्मान किया जाना चाहिए.

थरूर ने देश की राजनीति में युवाओं की कम भागीदारी पर चिंता जताते हुए कहा कि केवल दो फीसदी सांसद 30 साल से कम उम्र के हैं. 22 फीसदी सांसद 45 साल से कम के हैं. 16वीं लोकसभा में बहुत कम संख्या में 40 साल से कम उम्र के सांसद हैं, जबकि साल 2014 में हुए लोकसभा चुनावों में बड़ी संख्या में युवाओं ने मतदान किया था.

कार्यक्रम में राज्य के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव, वरिष्ठ अधिवक्ता और सांसद विवेक तन्खा और सांसद राजीव गौड़ा भी मौजूद थे. उन्होंने वहां उपस्थित युवाओं के सवालों का जवाब दिया.

थरूर ने गुरुवार को कार्यक्रम के बाद संवाददाताओं से बातचीत के दौरान कहा कि वह युवाओं के मन की बात सुनने के लिए यहां आए हैं.

कांग्रेस नेता ने कहा कि राजनीति में युवाओं की भागीदारी होनी चाहिए क्योंकि यह देश के भविष्य के लिए अच्छा है. देश में 60 फीसदी से ज्यादा युवा हैं लेकिन इसके बावजूद कैबिनेट और संसद में वरिष्ठ लोगों की संख्या अधिक हैं. अगर इन दोनों पीढ़ियों के बीच बातचीत नहीं होगी, तो देश की प्रगति कैसे होगी?

वंशवाद पर क्या बोले थरूर?

कार्यक्रम में शामिल युवाओं के मंहगे चुनाव और वंशवाद के सवाल पर थरूर ने कहा कि राजनीति में युवाओं के लिए जगह छोड़नी चाहिए. उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी की सभी राज्यों में कुछ सीटें युवाओं को देने की नीति रही है.

उन्होंने कहा कि रही बात महंगे चुनाव की, तो पार्टी ऐसे उम्मीदवार को मदद दे सकती है जिसे जरूरत हो. केवल अमीर ही नहीं, गरीब व्यक्ति को भी संसद या विधानसभा में चुनकर आना चाहिए. उन्होंने कहा कि भविष्य में ऐसी कोशिश की जाएगी कि उम्मीदवारों के लिए ऑनलाइन फंडिंग की भी व्यवस्था हो सके.

नेताओं के रिटायरमेंट पर क्या बोले शशि थरूर?

राजनीति में रिटायरमेंट को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में कांग्रेस नेता ने कहा कि अगर आपके बीच के किसी व्यक्ति ने अच्छा काम किया है और आप चाहते हैं कि वह चुन कर आए तो उसे रोका नहीं जाना चाहिए, लेकिन अगर कोई उम्र के कारण काम नहीं कर पा रहा हो तो उसे मौका नहीं मिलना चाहिए.

'समजा को आरक्षण की जरूरत'

आरक्षण को लेकर पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी आरक्षण का विरोध नहीं करती है, क्योंकि समाज को अभी इसकी आवश्यकता है. अभी मौजूदा आरक्षण रहना चाहिए. अब आर्थिक आधार पर आरक्षण का विधेयक भी पास हो चुका है.

इस दौरान राज्य के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने छत्तीसगढ़ में छात्रसंघ चुनाव को लेकर कहा कि वह इस विषय को मुख्यमंत्री और मंत्रिमंडल मुख्यमंत्री के सामने रखेंगे.

सिंहदेव ने कहा कि छात्रसंघ चुनाव को लेकर अलग अलग मत है. एक मत है कि इससे पढ़ाई में रुकावट उत्पन्न होती है, वहीं दूसरा मत है कि इससे प्रतिभा का विकास होता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi