In association with
S M L

‘शबरी संकल्प अभियान’ से यूपी को कुपोषण मुक्त करेंगे योगी आदित्यनाथ

इसमें अगले पांच साल में प्रदेश को कुपोषण मुक्त बनाने के लिए काम किया जाएगा

Bhasha Updated On: Apr 22, 2017 06:32 PM IST

0
‘शबरी संकल्प अभियान’ से यूपी को कुपोषण मुक्त करेंगे योगी आदित्यनाथ

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य को कुपोषण मुक्त बनाने के लिए ‘शबरी संकल्प अभियान’ को शुरू करने की पहल की. उन्होंने कहा इसकी रूपरेखा 100 दिन में तैयार कर इसे लागू किया जाए.

कुपोषण को खत्म करने के लिए विशेष कदम उठाएगी सरकार

योगी ने शुक्रवार देर रात बाल विकास और पुष्टाहार विभाग का प्रस्तुतिकरण देखते हुए कहा, ‘कुपोषण को खत्म करने के लिए विशेष प्रयास किए जाने की आवश्यकता है. प्रदेश में मातृ और बाल कुपोषण को कम करने के लिए विशेष कदम उठाने होंगे. राज्य सरकार मां, बच्चे और लड़कियों के स्वास्थ्य में सुधार के लिए सभी आवश्यक कदम उठाएगी.’

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे लोक कल्याण संकल्प-पत्र में दिए ‘शबरी संकल्प अभियान’ की रूपरेखा अगले 100 दिन के अंदर तैयार कर इसको लागू करें. इसमें अगले पांच साल में प्रदेश को कुपोषण मुक्त बनाने के लिए काम किया जाएगा.

ये बी पढ़े- यूपी अलर्ट! योगी को निशाना बना सकते हैं भगवा पहने आतंकी

उन्होंने कहा कि किसी भी प्रदेश की उन्नति और विकास तभी संभव है, जब वहां के निवासी स्वस्थ हों. यह तभी हो सकेगा, जब मां और बच्चा दोनों स्वस्थ होंगे.

जन्म के समय बच्चे का वजन ढाई किलो से कम न हो

मुख्यमंत्री ने कहा कि शबरी संकल्प पोषण योजना के तहत यह सुनिश्चित किया जाए कि जन्म के समय किसी भी बच्चे का वजन ढाई किलो से कम न हो. उन्होंने इसके लिए लाभार्थियों को बड़े पैमाने पर पौष्टिक आहार उपलब्ध कराने के निर्देश दिए.

उन्होंने वर्तमान में दी जा रही खाने पीने की सामग्री के नमूनों की प्रेसेंटेशन के समय खुद भी निरीक्षण किया. उन्होंने कहा कि कुपोषण से निपटने के लिए सबसे पहले इससे प्रभावित गांवों को चिह्नित किया जाए और इससे लड़ने के लिए प्रभावी कदम उठाए जाएं. उन्होंने पोषण जागरूकता अभियान की आवश्यकता पर भी जोर दिया.

योगी ने बाल विकास एवं पुष्टाहार के तहत ज्यादा से ज्यादा लाभार्थियों का वेरीफिकेशन के साथ उनकी सूची तैयार कर उसके डिजिटीकरण के निर्देश दिए. ताकि लाभार्थियों को कई योजनाओं के तहत दिए जा रहे लाभ का रिकॉर्ड रखा जा सके और उनकी निगरानी की जा सके.

प्रदेश में कुपोषण की स्थिति काफी गंभीर

मुख्यमंत्री ने बाल विकास पुष्टाहार विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे राज्य से कुपोषण जैसी समस्या से निपटने के लिए जी जान से काम करें. साथ ही मां, बच्चे और लड़कियों के स्वास्थ्य को सुधारने के साथ-साथ कुपोषण को खत्म करने के लिए हरसंभव प्रयास करें.

योगी ने राज्य पोषण मिशन का प्रस्तुतीकरण देखते हुए कहा कि प्रदेश में कुपोषण की स्थिति काफी गम्भीर है. ऐसे में इसके प्रभावों से निपटने के लिए इसके कारणों का पता लगाना होगा, ताकि इसे जड़ से दूर किया जा सके.

ये भी पढ़े - कैंसर संस्थान का आधे-अधूरे निर्माण के बावजूद उद्घाटन खिलवाड़ जैसा: सीएम योगी

उन्होंने कहा कि इसकी रोकथाम सही समय पर की जाए तो इससे निपटा जा सकता है. उन्होंने ग्राम स्वास्थ्य पोषण दिवस को और प्रभावी ढंग से लागू करने के निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि इसके तहत बच्चों का वजन लेने के साथ-साथ उनका टीकाकरण सुनिश्चित किया जाए. इसके साथ उनकी माताओं के ब्लड प्रेशर, खून और वजन की भी जांच की जाए. इसमें ग्राम प्रधान की  भागीदारी सुनिश्चित की जाए.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
जापानी लक्ज़री ब्रांड Lexus की LS500H भारत में लॉन्च

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi