S M L

मां को अस्पताल से छुड़वाने के लिए 7 साल के बच्चे ने मांगी भीख

प्रेगनेंसी में जटिलता आने के बाद महिला को पटना के नर्सिंग होम में भर्ती करवाया गया था

Updated On: Nov 27, 2017 03:14 PM IST

FP Staff

0
मां को अस्पताल से छुड़वाने के लिए 7 साल के बच्चे ने मांगी भीख

बिहार की राजधानी पटना से मानवता को शर्मसार कर देने वाली एक घटना सामने आई है. यहां एक बेटे को अपनी मां को अस्पताल से डिस्चार्ज करवाने के लिए भीख मांगनी पड़ी है. अस्पताल वालों का कहना था कि बिना पूरी फीस जमा कराए वह उसकी मां को अस्पताल से नहीं जाने देंगे.

महिला के परिवार की आर्थिक हालत बेहद खराब है. जिस कारण वो अस्पताल की फीस नहीं चुका पा रहे हैं. ललिता देवी (31) को 14 नवंबर को मां शीतला नर्सिंग होम में भर्ती करवाया गया था. इससे पहले, मधेपुरा में उसकी प्रेगनेंसी में कुछ जटिलताएं आ गई थीं. एक एजेंट के कहने पर उनके पति निर्धन राम ने उन्हें इस नर्सिंग होम में भर्ती करवाया.

दुर्भाग्य से डॉक्टर बच्चे को नहीं बचा पाए. बच्चे की मौत से स्तब्ध परिवारजनों पर और मुसीबत तब टूट पड़ी जब अस्पताल ने महिला को वापस ले जाने के लिए पहले 30,000 रुपए जमा करने को कहा.

भीख मांगता सात वर्षीय कुंदन

भीख मांगता सात वर्षीय कुंदन

निर्धन ने न्यूज़18 को बताया, ‘एजेंट ने मुझसे 25,000 लिए और कहा कि यह इलाज के लिए काफी होगा. इसके बाद भी बच्चे को बचाया नहीं जा सका. उल्टा मुझसे और 30,000 रुपए मांगे गए.’

महिला के पति निर्धन राम

महिला के पति निर्धन राम

पिता से तौलिया लेकर मांगने लगा भीख

ऐसी हालत में उनका सात साल का बच्चा वापस मधेपुरा में अपने गांव चला गया और अपने पिता से एक तौलिया लेकर भीख मांगने लगा. जहां एक ओर आम लोगों ने उसकी सहायता की, वहीं कुछ लोगों ने इसकी सूचना सांसद पप्पू यादव को दी.

पप्पू यादव ने इस मामले पर तुरंत एक्शन लिया और पटना जा कर ललिता को अस्पताल से छुड़वाया. साथ ही उन्होंने खराब चिकित्सा व्यवस्था को लेकर सरकार पर भी निशाना साधा. इसके बाद स्थानीय पुलिस भी मौके पर पहुंची और सिविल सर्जन प्रमोद झा भी पहुंचे. उन्होंने कहा कि अगर नर्सिंग होम प्रबंधन की कोई गलती पाई जाती है तो सख्त कार्रवाई की जाएगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi