S M L

एक सीरियल रेपिस्ट की खौफनाक कहानी, रेप से पहले बच्चियों की तोड़ देता था टांग

पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार किए गए शख्स की उम्र 20 साल है और नाम सुनील है. एक दिन की पुलिसिया पूछताछ में उसने कबूला कि गुरुग्राम की घटना के अलावा दिल्ली में 4, ग्वालियर और झांसी में एक-एक घटनाओं को अंजाम दे चुका है

Updated On: Nov 21, 2018 12:13 PM IST

FP Staff

0
एक सीरियल रेपिस्ट की खौफनाक कहानी, रेप से पहले बच्चियों की तोड़ देता था टांग

गुरुग्राम के सेक्टर 66 के गूगा कॉलोनी में 3 साल की बच्ची से रेप के बाद वीभत्स तरीके से हत्या करने के मामले में गिरफ्तार किए गए शख्स के खुलासे ने पुलिस के होश उड़ा दिए हैं. पूछताछ में शख्स ने कबूला है कि उसने अबतक 9 मासूमों की रेप की बाद हत्या की है. इन सभी बच्चियों की उम्र 3 से 8 साल के बीच में थी.

पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार किए गए शख्स की उम्र 20 साल है और उसका नाम सुनील है. एक दिन की पुलिसिया पूछताछ में उसने कबूला कि गुरुग्राम की घटना के अलावा दिल्ली में 4, ग्वालियर और झांसी में एक-एक घटनाओं को अंजाम दे चुका है.

12 नवंबर को गुरुग्राम में तीन साल की बच्ची के साथ वीभत्स रेप और मर्डर का मामला समाने आया था. इस बच्ची को अपनी हवस का शिकार बनाने वाले हैवान ने रेप के बाद बच्ची के शरीर पर ईंट रख दिए और उसका सिर प्लास्टिक बैग से ढंक दिया. इससे भी ज्यादा वीभत्सता दिखाते हुए आरोपी ने उसके प्राइवेट पार्ट में 10 सेमी लंबा लकड़ी का एक टुकड़ा घुसा दिया.

भंडारे में खाता और कहीं भी सो जाता था, नहीं था स्थायी ठिकाना

इस मामले में पास ही के झुग्गी में रहने वाले सुनील पर आरोप लगा था. पुलिस ने लोगों से पूछताछ के बाद शनिवार देर रात को उसे झांसी से गिरफ्तार कर लिया. पुलिस को सुनील को पकड़ने में भी काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा. सुनील नाम का यह शख्स मोबाइल फोन का इस्तेमाल नहीं करता, जिस कारण धर-पकड़ में पुलिस को दिक्कत हुई.

टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक, सुनील ने पुलिस से पूछताछ में बताया कि वह झुग्गी में रहने वाली, भंडारा में खाने गई मासूम को अपना शिकार बनाता था. पुलिस ने बताया कि वह इन बच्चियों को चिप्स और चॉकलेट देने के लालच से अपने साथ लेकर जाता और फिर अपने हवस का शिकार बनाता.

रेप से पहले मासूमों की तोड़ देता था टांग

पुलिस को पूछताछ के दौरान सबसे हैरान और चौंकाने वाली बात यह पता चली की सुनील मासूमों को अपने साथ लेकर जाता. रेप करने से पहले उनकी टांगे तोड़ देता और फिर अपने हवस का शिकार बनाता था. बाद में वह मासूमों को मौत के घाट उतार देता और शव को ठिकाने लगा कर दफा हो जाता. उसने सभी मासूमों के साथ ऐसा ही बर्ताव किया.

पुलिस ने बताया कि उसका कोई स्थायी ठिकाना नहीं है. वह भंडारे में खाता और इधर-उधर सो जाता. मासूमों की रेप और हत्या करने के बाद सुनील शराब पीता था और इसका जश्न मनाता था.

पुलिस पूछताछ में इस बात का खुलासा हुआ है कि सुनील ने दो साल के भीतर ही सारी घटनाओं को अंजाम दिया है. इससे पहले नवंबर 2016 और जनवरी 2017 में सुनील ने गुरुग्राम में ही दो बच्चियों से रेप और उनकी हत्या की थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi