S M L

दिल्ली: पुलिस पूछताछ के लिए दाती महाराज पहुंचे क्राइम ब्रांच ऑफिस

दाती महाराज के पहुंचते ही सीनियर ऑफिसर भी उनसे पूछताछ के लिए क्राइम ब्रांच के ऑफिस पहुंच गए. इसमें उनपर लगे आरोपों के बारे में विस्तार से पूछताछ की गई

FP Staff Updated On: Jun 22, 2018 07:45 PM IST

0
दिल्ली: पुलिस पूछताछ के लिए दाती महाराज पहुंचे क्राइम ब्रांच ऑफिस

स्वयंभू बाबा दाती मदन महाराज शुक्रवार चाणक्यपुरी स्थित दिल्ली पुलिस के क्राइम ब्रांच ऑफिस पहुंचे. यहां उनसे पूछताछ की गई. इससे पहले बुधवार को उन्हें पुलिस ने पूछताछ के लिए बुलाया था और आगे की पूछताछ के लिए शुक्रवार को आने के लिए कहा था, इसी क्रम में वह शुक्रवार को दिल्ली पुलिस के क्राइम ब्रांच ऑफिस पहुंचे.

दाती महाराज के पहुंचते ही सीनियर ऑफिसर भी उनसे पूछताछ के लिए क्राइम ब्रांच के ऑफिस पहुंच गए. इसमें उनपर लगे आरोपों के बारे में विस्तार से पूछताछ की गई. सवालों के जवाब के साथ उन्होंने अपना पक्ष भी पुलिस के सामने रखा.

राजस्थान राज्य महिला आयोग ने दुष्कर्म के आरोपी दाती महाराज के पाली जिले के आलावास स्थित आश्रम में कई तरह की अनियमितताएं पाए जाने पर पाली पुलिस अधीक्षक को आश्रम में रह रही लडकियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए पत्र लिखा है.

आयोग ने पाली पुलिस अधीक्षक को लिखे पत्र में दाती के आश्रम में निवास कर रही लडकियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने को कहा है.

आयोग के दो सदस्यों और एक न्यायिक अधिकारी के तीन सदस्यीय दल ने गुरुवार को दाती के आश्रम का अवलोकन कर उसमें कई तरह की अनियमितताएं पाई है.

New Delhi: Daati Maharaj at Crime Branch office in Chanakyapuri, in connection with the rape case of a 25-year old woman, in New Delhi on Friday, June 22, 2018.(PTI Photo /Kamal Singh) (PTI6_22_2018_000027B)

राजस्थान राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष सुमन शर्मा ने बताया कि आश्रम के अधिकारियों ने आयोग के दल के साथ सहयोग नहीं किया और मांगे गए दस्तावेजों को पेश करने में असफल रहे.

उन्होंने बताया कि आश्रम के अधिकारी होस्टल और शैक्षणिक संस्थान चलाने के लिये जरूरी अनापत्ति प्रमाण पत्र (एनओसी) नहीं दिखा पाए, इसलिए जिला कलेक्टर को इस संबंध में जांच कर अपनी रिपोर्ट 10 दिन में पेश करने को कहा गया है.

उन्होंने संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि आश्रम में लडकियों के रुकने के लिए किसी प्रकार का कोई उपयुक्त रिकॉर्ड नहीं है. एक रजिस्टर में दर्ज 153 लड़कियों के आश्रम में होने की उपस्थिति दर्ज थी, जबकि आश्रम में 253 लड़कियां मौजूद थीं. आश्रम के अधिकारी शिक्षा विभाग की एनओसी तक नहीं दिखा पाए. साथ ही, यह बात भी सामने आई है कि आश्रम में स्थित स्कूल और कॉलेज के पंजीकरण का नवीनीकरण नहीं करवाया गया है.

उन्होंने कहा कि जिला कलेक्टर को पंजीकरण, अनापत्ति प्रमाण पत्र और अन्य दस्तावेजों और अन्य प्रबंधों के बारे में जांच करने के निर्देश दिए गए है.

उन्होंने बताया कि आयोग के सदस्यों ने आश्रम में रह नही जिन लड़कियों से बातचीत की वे डरी हुई थी और उनके बयानों में विरोधाभास था, इसलिये हमने पुलिस अधीक्षक से लड़कियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने और आश्रम में पुलिसकर्मी तैनात करने को कहा है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi