S M L

एयरपोर्ट पर तैनात सिक्योरिटी स्टाफ को हिदायत, यात्रियों को न दें SMILE

इसका उद्देश्य CISF को ज्यादा फ्रेंडली होने की तुलना में अधिक चौकस बनाना है. सीआईएसएफ के डायरेक्टर जनरल राजेश रंजन ने कहा, 'हम यात्रियों के साथ ज्यादा फ्रेंडली नहीं हो सकते. क्योंकि अमेरिका में 9/11 होने की एक वजह यह थी कि... यात्रियों पर जरूरत से ज्यादा भरोसा किया गया'

Updated On: Oct 09, 2018 02:58 PM IST

FP Staff

0
एयरपोर्ट पर तैनात सिक्योरिटी स्टाफ को हिदायत, यात्रियों को न दें SMILE

आम तौर पर यात्री के तौर पर जब भी आप एयरपोर्ट जाते होंगे तो आपका वहां तैनात सिक्योरिटी स्टाफ स्माइल से स्वागत करता होगा. लेकिन जल्दी ही यह  बदल जाएगा.

एनडीटीवी के अनुसार एयरपोर्ट के सिक्योरिटी स्टाफ को स्माइल नहीं देने की हिदायत दी गई है. इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार एयरपोर्ट पर सुरक्षा का जिम्मा संभाल रहे केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (CISF) के जवान अब अपनी मुस्कुराहट में कमी लाएंगे.

रिपोर्ट के अनुसार इसका उद्देश्य सीआईएसएफ को ज्यादा फ्रेंडली होने की तुलना में अधिक चौकस बनाना है. सीआईएसएफ के डायरेक्टर जनरल राजेश रंजन ने कहा, 'हम यात्रियों के साथ ज्यादा फ्रेंडली नहीं हो सकते. क्योंकि अमेरिका में 9/11 होने की एक वजह यह थी कि... यात्रियों पर जरूरत से ज्यादा भरोसा किया गया.'

उन्होंने कहा कि सीआईएसएफ जवानों को व्यवहार परख करने की भी ट्रेनिंग दी जाएगी. उन्हें यह ट्रेनिंग अंतरराष्ट्रीय सलाहकार देंगे.

भारत में पिछले एक दशक में हवाईयात्रियों की संख्या में 6 गुना इजाफा हुआ है. प्रतिस्पर्धा की वजह से सस्ते होते किराए और बेहतर कनेक्टिविटी को देखते हुए लोग अब हवाई सफर करना ज्यादा पसंद कर रहे हैं.

मगर हवाईयात्रियों की बढ़ी संख्या को मैनेज कर पाना एयरपोर्ट प्रबंधन के लिए चुनौती साबित हो रहा है. जानकारों का मानना है कि एयरपोर्ट की सुरक्षा और उसकी क्षमता के विकास के लिए सरकार को अरबों डॉलर खर्च करना होगा.

सरकार ने हाल ही में यह घोषणा की थी कि कुछ घरेलू यात्री जल्दी ही अपना बोर्डिंग पास घर छोड़कर सफर कर सकते हैं. इसकी वजह एयरपोर्ट्स पर प्रस्तावित फेस रिकॉगनिशन (चेहरा पहचानना) तकनीक है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi