S M L

सीलिंग पर दिए बयान पर हरदीप सिंह की सफाई, हम सीलिंग के नहीं, उसके तरीके के खिलाफ

हरदीप सिंह सीलिंग समिति के लोग एसी कमरों में बैठ कर काम करते है, उन्हें ज़मीनी हकीकत का पता ही नहीं होता है

Updated On: Apr 25, 2018 01:41 PM IST

Bhasha

0
सीलिंग पर दिए बयान पर हरदीप सिंह की सफाई,  हम सीलिंग के नहीं, उसके तरीके के खिलाफ

आवास और शहरी विकास राज्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा है कि दिल्ली में कन्वर्जन चार्ज देने वालों की संपत्ति भी सील किए जाने जैसी घटनाओं के मद्देनज़र उन्होंने सीलिंग के तरीके पर सवाल उठाया है.

पुरी ने बुधवार को आवास और शहरी विकास निगम के स्थापना दिवस समारोह के बाद संवाददाताओं से बातचीत में अपने मंगलवार के उस बयान पर सफ़ाई देते हुए यह बात कही जिसमें उन्होंने कहा था कि सीलिंग समिति के लोग एसी कमरों में बैठ कर काम करते है, उन्हें ज़मीनी हकीकत का पता ही नहीं होता है.

जमीनी हकीकत को समझना जरूरी

पुरी ने कहा 'मैं सीलिंग का विरोध नहीं कर रहा हूँ, बल्कि सिर्फ यह कह रहा हूँ कि व्यापक मानवीय हितों की ज़मीनी हकीकत को देख कर सीलिंग की जाए.' उन्होंने कहा कि कई ऐसे मामले सामने आए है जहां 'डिसील' की गई सम्पत्तियों को सील कर दिया गया.

इससे सीलिंग के तरीके पर सवाल उठना लाज़िमी है. पुरी ने कहा 'आपको पता है सीलिंग से कितने लोग बेरोज़गार हुए और कितनों को विस्थापित होना पड़ा. इसलिए जब तक आप वास्तविक हकीकत को नहीं समझेंगे तब तक तकनीकी बातों का कोई फ़ायदा नहीं है.'

उन्होंने कहा कि वह अदालत के आदेश में दखल नहीं दे रहे है ना ही यह कह रहे हैं कि लोग अवैध निर्माण कार्य करें, उनका सिर्फ़ इतना कहना है कि दिल्ली के मास्टर प्लान में संशोधन करके ही दिल्ली में अवैध निर्माण और अतिक्रमण की इस समस्या का मानवीय आधार पर हल निकाला जा सकता है.

मास्टर प्लान में संशोधन पर सुप्रीम कोर्ट ने रोक लगाई है. पुरी ने इस मामले की अगली सुनवाई पर अदालत द्वारा यह रोक हटाए जाने की उम्मीद जताते हुए कहा कि ऐसा होने पर मास्टर प्लान में संशोधन किया जाएगा.

दिल्ली में हो रहे अतिक्रमण के सवाल पर पुरी ने कहा कि कानून व्यवस्था की ज़िम्मेदारी सरकार की है और मंत्रालय ने तय किया है कि सरकारी ज़मीन पर अतिक्रमण की कतई छूट नहीं दी जाएगी. उन्होंने कहा 'पहले जिसे जहां मौक़ा, मिला वहा कब्ज़े कर लिए गए, लेकिन अब ऐसा नहीं होने दिया जाएगा.'

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi