S M L

मॉलिक्यूल से लेकर गैलेक्सीज तक अपनी ज्ञान की खोज में समझौता ना करें: राष्ट्रपति

राष्ट्रपति ने कहा कि ज्ञान, खोज, इनोवेशन और समाज वे चार पहिए हैं जो देश को आगे ले जाते हैं

Bhasha Updated On: Oct 25, 2017 07:29 PM IST

0
मॉलिक्यूल से लेकर गैलेक्सीज तक अपनी ज्ञान की खोज में समझौता ना करें: राष्ट्रपति

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने वैज्ञानिकों से कहा कि वे मॉलिक्यूल से लेकर गैलेक्सीज तक अपनी ज्ञान की खोज में समझौता ना करें. क्योंकि समाज को अपनी प्रतिदिन की समस्याओं के लिए समाधान चाहिए.

यहां वैज्ञानिकों के साथ गोलमेज बातचीत में राष्ट्रपति ने कहा की ये दो प्रयास विरोधाभासी नहीं हैं. हमने देखा है कि किस तरह इसरो ने दिवंगत डॉक्टर सतीश धवन के प्रयासों के जरिए अत्याधुनिक विज्ञान को किसानों की मदद से जोड़ा है.

राष्ट्रपति ने कहा कि ज्ञान, खोज, इनोवेशन और समाज वे चार पहिए हैं जो देश को आगे ले जाते हैं लेकिन इनमें से एक का भी कोई एक गलत कदम देश को गलत दिशा में ले जाएगा. वैज्ञानिक होने के नाते आप पर बहुत बड़ी जिम्मेदारी है. तीन पहियों का चार्ज सीधा आपके पास है. लेकिन अगर आप हर दिन चौथे पहिए से नहीं जुड़ेंगे तो हमारा कोई भविष्य नहीं है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
कोई तो जूनून चाहिए जिंदगी के वास्ते

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi