S M L

जिस स्कूल में महात्मा गांधी पढ़े उसे सरकार ने किया बंद, बनेगा संग्रहालय

स्कूल को अब सरकार ने संग्रहालय में बदलने का फैसला किया है

Updated On: May 05, 2017 03:21 PM IST

FP Staff, FP Staff

0
जिस स्कूल में महात्मा गांधी पढ़े उसे सरकार ने किया बंद, बनेगा संग्रहालय

अंग्रेजी शासन में बने गुजरात के राजकोट स्थित 164 साल पुराने अल्फ्रेड हाई स्कूल को राज्य सरकार ने बंद कर दिया है.ये वही स्कूल है जहां देश के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने 1887 में अपनी पढ़ाई की थी. इस स्कूल को अब सरकार ने संग्रहालय में बदलने का फैसला किया है.

फिलहाल इस स्कूल में 150 छात्र पढ़ाई कर रहे हैं. जिन्हें स्कूल की तरफ से ट्रांसफर सर्टिफिकेट दे दिया गया है.

दरअसल गुजरात सरकार ने 2016  में एक नोटिफिकेशन जारी किया था, जिसके मुताबिक इस स्कूल को म्यूजियम में बदला जाना था. आरएमसी के मुताबिक 10 करोड़ में बना यह संग्रहालय गांधी जी, सरदार पटेल और अन्य कई जानी मानी हस्तियों के जीवन परिचय को लोगों के सामने प्रदर्शित करेगा.

इस स्कूल की स्थापना 17 अक्टूबर 1853 में ब्रिटिश काल में हुई थी. जो उस समय सौराष्ट्र क्षेत्र का पहला अंग्रेजी माध्यम स्कूल था. इस स्कूल की मौजूदा इमारत जूनागढ़ के नवाब करनेल सिंह ने 1875 में बनवाई थी और उस समय इसका नाम ड्यूक ऑफ एडिनबर्ग प्रिंस अल्फ्रेड के नाम पर रखा गया था. फिर 1947 में देश की आजादी के बाद इसका नाम बदलकर मोहनदास गांधी स्कूल कर दिया गया.

इस स्कूल से गांधी जी का नाम जुड़ा होने के बावजूद भी यहां की शिक्षा व्यवस्था काफी खराब थी. कुछ सालों पहले स्कूल के दसवीं कक्षा के 60 छात्रों में से कोई भी बोर्ड परीक्षा में पास नहीं हो पाया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi