S M L

भारत बंद हिंसा: राजस्थान में भीड़ ने विधायकों के घर जलाए, 170 पुलिसकर्मी घायल

राजस्थान के करौली जिले के हिंडौन कस्बे में 5,000 लोगों की उग्र भीड़ ने वर्तमान बीजेपी विधायक और एक पूर्व विधायक के घरों में आग लगा दी

Bhasha Updated On: Apr 04, 2018 09:05 AM IST

0
भारत बंद हिंसा: राजस्थान में भीड़ ने विधायकों के घर जलाए, 170 पुलिसकर्मी घायल

राजस्थान के करौली जिले के हिंडौन कस्बे में 5,000 लोगों की उग्र भीड़ द्वारा वर्तमान बीजेपी विधायक और एक पूर्व विधायक के घरों में आग लगाने और अन्य स्थानों पर आगजनी व पत्थरबाजी की घटना के बाद कर्फ्यू लगा दिया गया. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि भारत बंद के दौरान की हिंसक घटनाओं में शामिल करीब 1,000 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. असामाजिक तत्वों के खिलाफ 175 मामले दर्ज किये गये हैं.

राजस्थान के गृहमंत्री गुलाब चंद कटारिया ने कहा कि प्रदेश में सोमवार को दलित प्रदर्शनकारियों द्वारा किए गए नुकसान के एक दिन बाद प्रदेश के कुछ हिस्सों में अन्य जाति के लोग प्रदर्शन कर रहें है. अलवर में एक व्यक्ति की मौत के बाद लोग विभिन्न मांगों को लेकर धरने पर बैठ गए. अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) एन आर के रेड्डी ने बताया कि दलितों के प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसक घटनाओं के बाद हिंडोन सिटी में व्यापार मंडल और अन्य जाति के लोगों ने अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति बाहुल्य क्षेत्र में जूलुस निकाला. उन्होंने कहा कि भीड़ को काबू में करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोडे़, लाठीचार्ज और रबड़ की गोलियां चलाईं.

रेड्डी ने बताया कि बंद के दौरान प्रदेश के विभिन्न स्थानों पर हुई हिंसक घटनाओं में करीब 170 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं. हिंडौन कस्बे को छोड़कर सभी जगह स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है और शांतिपूर्ण है. सात-आठ स्थानों पर निषेधाज्ञा जारी है. हिंसक घटनाओं में शामिल 1,000 उपद्रवियों को गिरफ्तार किया गया है और 175 मामले दर्ज किए गए हैं.

करौली जिला कलेक्टर अभिमन्यु कुमार ने बताया कि लगभग 5,000 लोगों की उग्र भीड़ ने वर्तमान बीजेपी विधायक राजकुमारी जाटव और कांग्रेस के पूर्व विधायक भरोसी लाल जाटव के घर में आग लगा दी. कस्बे में अन्य स्थानों पर आगजनी और पत्थरबाजी की घटनाओं को नियंत्रित करने के लिए कस्बे में कर्फ्यू लगा दिया गया. करौली पुलिस अधीक्षक अनिल कायल ने बताया कि आगजनी और पत्थरबाजी की घटना के बाद लगभग 40 लोगों को हिरासत में लिया गया है.

गंगापुर सिटी में भी हिसंक घटनाओं के बाद बिगड़ी कानून व्यवस्था को नियंत्रित करने के लिए कर्फ्यू लगाया गया था. सवाईमाधोपुर जिला कलेक्टर के सी वर्मा ने बताया कि गंगापुर सिटी में अब स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है और यहां निषेधाज्ञा जारी है. उन्होंने बताया कि कर्फ्यू अब हटा लिया गया. रेड्डी ने बताया कि संपत्ति को हुए नुकसान और क्षतिग्रस्त वाहनों की संख्या का आकलन किया जा रहा है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi