S M L

अब सिर्फ RO के जल से होगा महाकाल का अभिषेक

बाबा को चढ़ाया जाने वाल जल सिर्फ RO होगा. श्रद्धालुओं को सवा लीटर पंचामृत चढ़ाने की अनुमति दी जाएगी. मंदिर में आरती के बाद शिवलिंग को सूती कपड़े से ढंकना भी जरूरी होगा

Updated On: Oct 27, 2017 03:43 PM IST

FP Staff

0
अब सिर्फ RO के जल से होगा महाकाल का अभिषेक

देश के बारह ज्योतिर्लिंगों में से उज्जैन महाकाल मंदिर के शिवलिंग में हो रहे क्षरण को रोकने के लिए मंदिर प्रशासन का प्रस्ताव सुप्रीम कोर्ट ने मान लिया है. मंदिर प्रशासन ने कुछ दिनों पहले पूजा के नियमों में बदलाव को लेकर सुप्रीम कोर्ट में प्रस्ताव दिया था. मंदिर प्रशासन को पूजा नियमों में 8 बदलावों को लेकर सुप्रीम कोर्ट से हरी झंडी मिली है.

अब महाकाल के दर्शन करने के लिए पहुंचे भक्त 500 मिली लीटर से ज्यादा जल नहीं चढ़ा पाएंगे. बाबा को चढ़ाया जाने वाल जल सिर्फ RO का होगा. श्रद्धालुओं को सवा लीटर पंचामृत चढ़ाने की अनुमति दी जाएगी. मंदिर में आरती के बाद शिवलिंग को सूती कपड़े से ढंकना भी जरूरी होगा.

शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में महाकाल मंदिर के नियमों पर सुनवाई हुई, जिसमें इन नियमों को वाजिब बताया गया. दरअसल, महाकाल मंदिर समिति ने भस्म और पंचामृत से शिवलिंग को नुकसान से बचाने के सुप्रीम कोर्ट में प्रस्ताव दिया था. समिति ने मंदिर को नुकसान पहुंचने से जुड़ी एक रिपोर्ट कोर्ट में सौंपी थी, जिसका अध्ययन करने के बाद कोर्ट ने कमेटी गठित की.

कमेटी ने माना है कि शिवलिंग और मंदिर परिसर अब पहले जैसे नहीं है. उन्हें कई कारणों से नुकसान हुआ है, जिसमें अधिक भीड़ और पूजा सामग्री को इसके लिए जिम्मेदार ठहराया गया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi