S M L

महात्मा गांधी की हत्या की दोबारा जांच नहीं होगी, SC ने याचिका खारिज की

अदालत ने कहा कि इस मुकदमे पर फिर से सुनवाई कराने के लिए दायर याचिका अकादमिक शोध पर आधारित है. यह वर्षों पहले हुए किसी मामले को फिर से खोलने का आधार नहीं बन सकता

FP Staff Updated On: Mar 28, 2018 01:29 PM IST

0
महात्मा गांधी की हत्या की दोबारा जांच नहीं होगी, SC ने याचिका खारिज की

सुप्रीम कोर्ट ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की हत्या की नई जांच के लिए दायर याचिका खारिज कर दी है. बुधवार को जस्टिस एस ए बॉबडे और जस्टिस एल नागेश्वर राव की बेंच ने पंकज फडनीस की याचिका को खारिज कर दिया है.

अभिनव भारत की ओर से मुंबई के पंकज फडनीस ने ताजा दस्तावेजों के आधार पर हत्या की नई सिरे से जांच कराने की मांग की थी.

अदालत ने कहा कि इस मुकदमे पर फिर से सुनवाई कराने के लिए दायर याचिका अकादमिक शोध पर आधारित है. और यह वर्षों पहले हुए किसी मामले को फिर से खोलने का आधार नहीं बन सकता.

सुप्रीम कोर्ट ने इस हत्याकांड की जांच नए सिरे से कराने के लिए दायर याचिका पर बीते 6 मार्च को सुनवाई पूरी कर ली थी. अदालत ने इस पर अपना फैसला सुरक्षित रखते हुए स्पष्ट किया कि वह भावनाओं से प्रभावित नहीं होगा बल्कि  फैसला करते समय कानूनी दलीलों पर भरोसा करेगा.

याचिका दायर करने वाले पंकज फडनीस ने इस मामले को सच्चाई पर पर्दा डालने वाली इतिहास की सबसे बड़ी घटना होने का दावा किया था.

पंकज फणनीस ने बॉम्बे हाईकोर्ट के 6 जून, 2016 को दिए फैसले में उसकी याचिका खारिज करने के आदेश को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी.

महात्मा गांधी की 30 जनवरी, 1948 के दिन नाथूराम गोडसे ने करीब से गोली मारकर हत्या कर दी थी. आरोपी गोडसे को इस गुनाह के लिए 15 नवंबर, 1949 को फांसी दे दी गई थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
FIRST TAKE: जनभावना पर फांसी की सजा जायज?

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi