S M L

SC ने दिया प्रदूषण बोर्ड को आदेश, लोग प्रदूषण संबंधित शिकायत कर सकें इसके लिए खोलें सोशल मीडिया अकाउंट

सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट से उन वाहनों की भी लिस्ट अपनी वेबसाइट पर जोड़ने को कहा है, जो डीजल के 10 साल और पेट्रोल के 15 साल पुराने वाहन हैं

Updated On: Oct 29, 2018 05:10 PM IST

FP Staff

0
SC ने दिया प्रदूषण बोर्ड को आदेश, लोग प्रदूषण संबंधित शिकायत कर सकें इसके लिए खोलें सोशल मीडिया अकाउंट

सुप्रीम कोर्ट ने केंद्रीय प्रदूषण बोर्ड से दिल्ली के लोगों के लिए एक सोशल मीडिया अकाउंट खोलने का निर्देश दिया है. कोर्ट का कहना है कि दिल्लीवाले प्रदूषण को लेकर अपनी शिकायतें यहां कर सकेंगे. सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट से उन वाहनों की भी लिस्ट अपनी वेबसाइट पर जोड़ने को कहा है, जो डीजल के 10 साल और पेट्रोल के 15 साल पुराने वाहन हैं. ताकि उन्हें जब्त किया जा सके.

दिवाली में अभी दस दिन बाकी है, लेकिन दिल्ली की हवा अभी से खराब होती जा रही है. रविवार को राजधानी में हवा की क्वालिटी इस सीजन में सबसे खराब रही. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB) के आंकड़ों के मुताबिक दिल्ली में रविवार को वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) 381 दर्ज किया गया. यह प्रदूषण के गंभीर स्तर से कुछ ही कम है. वहीं आज यानी सोमवार को दिल्ली के लोधी रोड इलाके में प्रदूषण सूचकांक PM 2.5 पर 263 और PM 10 पर 249 दर्ज किया गया.

सेंट्रल पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड (सीपीसीबी) रोज एयर क्वालिटी इंडेक्स चेक करता है. इंडेक्स बड़े पॉल्यूटेंट PM2.5 और PM10 को मापती है. अगर यह 0 से 50 के बीच AQI ‘अच्छा’ माना जाता है. 51 और 100 के बीच ‘संतोषजनक’. 101 और 200 के बीच ‘मध्यम’ श्रेणी का. 201 से 300 के बीच ‘खराब’. 301 से 400 के बीच ‘बेहद खराब’ और 401 से 500 के बीच AQI ‘गंभीर’ माना जाता है.

ऐस माना जा रहा था कि आगामी 1 नवंबर से लेकर 10 नवंबर के बीच राजधानी की वायु गुणवत्ता बहुत खराब रहेगी, लेकिन अभी से ही हवा की इस स्थिति को देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है कि आने वाले दिनों में हालात कितने खराब हो सकते हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi