विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

राम रहीम के बाद अब रामपाल की बारी, हिसार कोर्ट आज करेगा किस्मत का फैसला

पुलिस ने रामपाल समेत सैकड़ों लोगों पर देशद्रोह, हत्या समेत 7 मामले दर्ज किए थे

Ravishankar Singh Ravishankar Singh Updated On: Aug 29, 2017 11:21 AM IST

0
राम रहीम के बाद अब रामपाल की बारी, हिसार कोर्ट आज करेगा किस्मत का फैसला

हरियाणा में पिछले एक सप्ताह से बाबाओं को लेकर मचा बवाल अभी कुछ और दिन चल सकता है. 28 अगस्त को सीबीआई की विशेष अदालत ने गुरमीत राम रहीम सिंह पर अपना फैसला सुनाया. वहीं अब राम रहीम के बाद हरियाणा के ही एक दूसरे बाबा रामपाल के खिलाफ चल रहे दो मामलों में हिसार कोर्ट मंगलवार को सजा सुना सकता है.

क्या है करौंथा कांड?

रोहतक के करौंथा कांड के एक मामले में आरोपी रामपाल को कोर्ट ने पेश होने का आदेश दिया था. रामपाल पेशी से लगातार इनकार करता रहा. इसी मामले में तीन साल पहले हाईकोर्ट ने रामपाल को गिरफ्तार कर अदालत में पेश करने के निर्देश दिया था.

हरियाणा पुलिस ने रामपाल के बरवाला स्थित सतलोक आश्रम पर कार्रवाई की थी. इस दौरान पुलिस और रामपाल समर्थकों में हिंसक झड़पें हुईं थी. जिसमें कई लोगों की जानें चली की गईं थी.

गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने रामपाल समेत सैकड़ों लोगों पर देशद्रोह, हत्या समेत 7 मामले दर्ज किए थे. सभी मामले में रामपाल आरोपी हैं. 18 नवंबर 2014 को सतलोक आश्रम के प्रमुख रामपाल और उनके कुछ आदमियों पर सरकारी काम में बाधा पहु्ंचाने पर मामला दर्ज किया गया था. एक मुकदमे में रामपाल समेत पांच लोग और दूसरे मामले में रामपाल सहित छह लोग आरोपी हैं.

कहां चल रही है सुनवाई

इन सभी मामलों की सुनवाई हिसार की सेंट्रल जेल वन में बनाए गए स्पेशल कोर्ट में चल रही है. इन्हीं में से दो मामलों में 29 अगस्त को हिसार कोर्ट फैसला सुना सकता है.

बरवाला के सतलोक आश्रम प्रकरण में मुकदमा नंबर 426 और 427 मामले में पिछले बुधवार बहस पूरी हो गई थी. अदालत ने 24 अगस्त, फैसले की तारीख निर्धारित की थी. लेकिन, पंचकूला की सीबीआई कोर्ट ने डेरा प्रमुख गुरमीत सिंह राम रहीम के फैसले की तारीख 25 अगस्त पहले निर्धारित कर रखी थी.

हरियाणा पुलिस के जवान पिछले कुछ दिनों से राम रहीम मसले को लेकर परेशान थी. हरियाणा में लगातार हिंसक प्रदर्शन के बाद पुलिसकर्मियों की तैनाती भी राम रहीम मामले को लेकर ही थी.

रामपाल और राम रहीम की तारीख एक दिन लगने से पुलिस की सांसें फूल गई थी. पुलिस के आला अधिकारियों ने फैसला टालने के लिए कोर्ट में अर्जी दी. जिसको अदालत ने स्वीकार कर लिया. जिस कारण अब यह फैसला मंगलवार को आ सकता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi