S M L

निपाह वायरस: परीक्षण के लिए भेजे जाएंगे चमगादड़ों के नमूने

निपाह वायरस से प्रभावित क्षेत्र पेराम्बरा के पास फल खाने वाले चमगादड़ के नमूने इकट्ठा किए जा रहे हैं

Bhasha Updated On: May 26, 2018 06:13 PM IST

0
निपाह वायरस: परीक्षण के लिए भेजे जाएंगे चमगादड़ों के नमूने

निपाह वायरस से प्रभावित क्षेत्र पेराम्बरा के पास फल खाने वाले चमगादड़ के नमूने इकट्ठा किए जा रहे हैं और इन्हें परीक्षण के लिए भोपाल स्थित राष्ट्रीय उच्च सुरक्षा रोग पशु संस्थान (एनआईएचएसएडी) भेजा जाएगा.

पशुपालन विभाग के निदेशक डा. एनएन सासी ने बताया कि राष्‍ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान (एनआईवी), पुणे और पशुपालन तथा वन विभाग के विशेषज्ञों ने नमूनों को इकट्ठा करना शुरू कर दिया है जो एनआईएचएसएडी को भेजे जाएंगे.

निपाह वायरस से अब तक 13 लोगों की मौत हो चुकी है.

उन्होंने बताया कि मूसा परिवार के एक कुएं से तीन चमगादड़ों को पकड़ा गया था और उनके नमूने सूअरों, बकरियों और मवेशियों के नमूनों के साथ भोपाल प्रयोगशाला भेजे गए थे और इन सभी के परीक्षण नेगेटिव आए हैं.

सासी ने कहा,‘हम अब पेराम्बरा क्षेत्र से फल खाने वाले चमगादड़ों को पकड़ने का प्रयास कर रहे हैं.’

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के परामर्श में कहा गया है कि यह वायरस आमतौर पर चमगादड़ों, सूअरों, कुत्तों और घोड़ों से मनुष्यों में फैल सकता है जो गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है.

निपाह वायरस के लेकर हेल्थ एजवाइजरी जारी की जा रही है. एडवाइजरी में बताया गया है कि बुखार, सिर दर्द, उल्टी और बेहोशी इस वायरस के लक्षण हैं. कुछ मामले में मिर्गी भी इसका लक्षण हो सकता है. यह लक्षण 10 से 12 दिनों तक रहने के बाद लोग बेहोश हो सकते हैं और दिमागी बुखार से मौत भी हो सकती है.

लोगों को सलाह दी गई है कि वो पक्षियों, चमगादड़ों और जानवरों द्वारा काटे गए फलों और सब्जियों को न खाएं. साथ ही संक्रमित व्यक्तियों से मिलने के बाद अच्छी तरह से हाथ धो लें और केरल जैसे प्रभावित क्षेत्रों में यात्रा के बाद आए बुखार को लेकर सतर्क रहें और उस पर ध्यान दें.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
DRONACHARYA: योगेश्वर दत्त से सीखिए फितले दांव

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi