S M L

पढ़िए एक टूटी ब्लेड से 30 रेप, 15 मर्डर करनेवाला साइको शंकर की कहानी

साल 2017 में इसके ऊपर एक फिल्म भी बनी, जिसका नाम साइको शंकर था. गले में टूटी ब्लेड लेकर चलता और उसी से हत्या करता था

Updated On: Feb 28, 2018 04:14 PM IST

FP Staff

0
पढ़िए एक टूटी ब्लेड से 30 रेप, 15 मर्डर करनेवाला साइको शंकर की कहानी

साइको शंकर ने आत्महत्या कर ली है. 30 से अधिक रेप और 15 से अधिक हत्याओं का दोषी इस अपराधी ने मंगलवार को बेंगलुरू के परप्पन अग्रहारा जेल में अपनी जान दे दी. इसका आतंक तमिलनाडु और कर्नाटक दोनों राज्यों में लंबे समय से था. साल 2017 में इसके ऊपर एक फिल्म भी बनी, जिसका नाम साइको शंकर था. गले में टूटी ब्लेड लेकर चलता और उसी से हत्या करता था.

मंगलवार की सुबह जेल में कुछ अपराधियों ने शंकर को देखा कि वह एक पूल में पड़ा हुआ है. तत्काल इसकी सूचना जेल प्रशासन को दी. डॉक्टरों की टीम पहुंची इसके बाद उसे बेंगलुरू के विक्टोरिया अस्पताल ले जाया गया. यहां डॉक्टरों ने सुबह 5.10 बजे मृत घोषित कर दिया.

टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी खबर के मुताबिक जेल प्रशासन ने मामले की जांच का आदेश दिया है. अपराधियों ने पुलिस को बताया कि वह जेल में ही नाई से ब्लेड का एक टुकड़ा चुरा लिया था. उसे पॉकेट में रख लिया था. लेकिन किसी ने उसे इसका इस्तेमाल करते नहीं देखा.

जेल से भी भागा था साइको शंकर 

अपनी सजा के दौरान शंकर जेल से भी बाग गया था. बेंगलुरु के हाई सिक्योरिटी वाले जेल के बाहरी और अंदर के दिवाल में छेद कर एक बांस के सहारे भाग निकला था. दुबारा उसे बेंगलुरू पुलिस ने पांच सितंबर 2013 को गिरफ्तार किया.

एम शंकर, उर्फ जयशंकर (41) तमिलनाडु के सलेम जिले के एडापैटी में कन्यामपट्टी का रहनेवाला था. 12वीं पास करने के बाद वह ट्रक ड्राइवर बन गया. इस दौरान वह तमिल, कन्नड़ और हिंदी धाराप्रवाह बोलना सीख गया.

अकेली महिलाओं को बनाता था निशाना 

शंकर उस वक्त चर्चा में आया जब उसने साल 2009 में 23 अगस्त को एक महिला पुलिसकर्मी एम जयामनी (39) की रेप करने के बाद हत्या कर दिया. वह महिला पुलिकर्मी सुरक्षा इंतजाम में तिरुपुर में ड्यूटी पर तैनात थी. उस दिन सीएम एमके स्टालिन दौरे पर वहां पहुंचे थे. उसी दिन उसकी हत्या कर दी गई.

मामले की जांच करनेवाले एक पुलिसअधिकारी ने बताया कि पहले तो शंकर ने जयामनी का अपहरण कर लिया. इसके बाद रेप कर उसकी हत्या कर दी. उसकी लाश पुलिक को 19 सितंबर को सलेम जिले के संकारी इलाके में मिली थी.

इस दौरान वह अकेली महिलाओं को निशाना बनाता रहा. पहले अपहरण करता था. फिर उसका रेप करता था फिर उसकी हत्या कर देता था.

(फोटो साभारः टाइम्स ऑफ इंडिया) 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi