S M L

वायु प्रदूषण से बचने के 'ग्रीन' उपाय, अब ये पौधे देंगे फिल्टर की हुई हवा

दिल्ली सहित उसके आसपास के इलाकों में हवा बेहद खराब हो गई है, सभी शहरों में वायु प्रदूषण एक बड़ी समस्या बनकर सामने आ रही है, ऐसे में अपने आप को वायु प्रदूषण से बचाना बहुत जरूरी है क्योंकि इसके चलते आप कई तरह की गंभीर बीमारियों से ग्रसित हो सकते हैं

Updated On: Nov 01, 2018 10:25 AM IST

FP Staff

0
वायु प्रदूषण से बचने के 'ग्रीन' उपाय, अब ये पौधे देंगे फिल्टर की हुई हवा
Loading...

इस बार दशहरे के बाद से ही दिल्ली की आबोहवा बेहद खराब हो गई है और हवा में घुली जहरीली गैसों के चलते सांस लेना भी मुश्किल साबित हो रहा है. पूरे उत्तर भारत में धुंध की चादर बिछने लगी है. दिल्ली सहित उसके आसपास के इलाकों में हवा बेहद खराब हो गई है. दिन-ब-दिन हालात और खराब हो रहे हैं और देश के सभी शहरों में वायु प्रदूषण एक बड़ी समस्या बनकर सामने आ रही है. ऐसे में अपने आप को वायु प्रदूषण से बचाना बहुत जरूरी है क्योंकि इसके चलते आप कई तरह की गंभीर बीमारियों से ग्रसित हो सकते हैं.

इन बीमारियों में सांस से संबंधित बीमारियां सबसे ज्यादा है. यहां तक की आपको फेफड़ों का कैंसर तक हो सकता है. वायु प्रदूषण से बचने के कई उपाय हैं. चाहें आप ऑफिस में हों या फिर घर पर, ऐसे कई तरीके हैं जिनसे आप हर समय वायु प्रदूषण से अपना बचाव कर सकते हैं. वायु प्रदूषण को रोकने में पौधों का बहुत बड़ा हाथ होता है. हवा को फिल्टर कर ये पौधे आपको स्वच्छ वायु प्रदान कर सकते हैं.

जहरीली गैसों को कम करने के लिए कुछ पौधे बेहद काम आते हैं. इन पौधों को एयर फिल्टरिंग प्लांट भी कहा जाता है. खुजली, जलन, लगातार जुकाम, एलर्जी और आंखों में जलन से बचाव में ये पौधे आपकी मददगार साबित हो सकते हैं. भारत में इस तरह के पौधों में एलो वेरा, लिली, स्नेक प्लांट, पाइन प्लांट (देवदार का पौधा), मनी प्लांट, अरीका पाम और इंग्लिश आइवी शामिल हैं. आइए आपको बताते हैं इनके गुणों के बारे में-

मनी प्लांट

Untitled design (58)

मनी प्लांट एक बेल है. इसकी एक पत्ती का आकार 7 से 10 सेंटीमीटर तक लंबा होता है. यह पौधा आसानी से मिल जाता है और कई घरों में उन्हें देखा जाता है. इस पौधे की खास बात यह है कि यह पौधा बहुत कम रोशनी में भी जिंदा रह सकता है और इसे किसी खाली बोतल में बिना मिट्टी के भी उगाया जा सकता है. इस पौधे में हवा में मौजूद कार्बन डाईऑक्साइड को ग्रहण करने की क्षमता होती है और यह ऑक्सीजन को आसानी से बाहर निकालता है. मनी प्लांट हवा में कार्बन डाईऑक्साइड को कम कर हमारे सांस लेने के लिए शुद्ध ऑक्सीजन प्रदान करता है.

एरेका पाम

Untitled design (62)

एरेका पाम एक ऐसा पौधा है जो कार्बन डाई ऑक्साइड को सीधे ऑक्सीजन में बदल देने की क्षमता रखता है. इस पौधे की ऊंचाई एक व्यक्ति के कंधे के बराबर होती है. इस पौधे की देखभाल के लिए पत्तियों को हर रोज साफ करना जरूरी है. इसके अलावा हर तीन-चार महीने में इनको बाहर सूरज की रोशनी में रखने की भी जरूरत पड़ती है. हवा को फिल्टर कर उसे शुद्ध बनाने में ये पौधा मददगार है. इसे गमले में रखने के लिए नम मिट्टी का प्रयोग करें और सतह के थोड़े नीचे मिट्टी के सूखते ही पौधे को पानी दें.

एलो वेरा

Untitled design (59)

एलो वेरा में कई सारे औषधीय गुण मौजूद हैं. इस पौधे को उगने के लिए पानी की जरूरत भी कम होती है. इसके पत्ते काफी मोटे और मजबूत होते हैं. पत्ते के अंदरूनी भाग को काटने पर एक तरह का रस निकलता है. इस रस से का इस्तेमाल कई तरह की बीमारियों के इलाज में किया जाता है. इसके अलावा खास बात है कि इस पौधे को आसानी से घर में लगा सकते हैं जो हवा को शुद्ध रखता है.

स्नेक प्लांट

Untitled design (63)

इस पौधे को बढ़ने के लिए बहुत कम धूप की जरूरत होती है. इसके अलावा पानी की भी जरूरत ज्यादा नहीं होती. हवा को फिल्टर करने वाले इस पौधे को आप आसानी से अपने कमरे या ऑफिस केबिन में एक कोने में उगा सकते हैं.

पाइन प्लांट

Untitled design (60)

घर की हवा को शुद्ध बनाने के लिए देवदार का पौधा भी काफी मशहूर है. इस पौधे की पत्तियां छोटी-छोटी होती हैं. इसे बहुत ज्यादा देखभाल की जरूरत भी नहीं होती लेकिन समय-समय पर इसकी काट-छांट करना जरूरी होता है.

पीस लिली

Untitled design (64)

पीस लिली घरों में प्रयोग होने वाला एक आम पौधा है, जो हर तरह की हानिकारक गैसों को खत्म करता है. यह धूल को भी समाप्त करता है और घर की हवा को शुद्ध बनाता है.

इंग्लिश आइवरी

Untitled design (65)

कम रोशनी वाली जगहों के लिए यह पौधा सबसे ज्यादा उपुक्त है. वातावरण में मौजूद सभी जहरीली गैसों को खत्म कर यह पौधा शुद्ध हवा देने में मदद करता है.

मदर-इन-लॉ टंग

Untitled design (61)

यह एक ऐसा पौधा है जो किसी भी परिस्थिति में फलता-फूलता है. यह काफी मजबूत होता है. खास बात यह है कि यह रात में ऑक्सीजन तो छोड़ता ही है बल्कि कई अन्य तरह की हानिकारिक गैसौं को भी खत्म कर सकता है. इस पौधे की ऊंचाई कमर की जितनी होनी चाहिए. इसे सूरज की हल्की रोशनी में रखें और ज्यादा पानी न दें.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi