S M L

सफदरजंग अस्पताल में जारी हड़ताल खत्म, काम पर वापस लौटे डॉक्टर

रेजिडेंट डॉक्टरों ने स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय में अतिरिक्त सचिव से मुलाकात के बाद अपनी हड़ताल वापस ली. प्रशासन मेडिकल संस्थान में सुरक्षा बढ़ाने की उनकी मांग पर राजी हो गया. जिसके तहत फौरी इंतजाम के तौर पर 18 मार्शलों को तैनात करने का फैसला किया गया है

Updated On: Jan 15, 2019 09:03 AM IST

FP Staff

0
सफदरजंग अस्पताल में जारी हड़ताल खत्म, काम पर वापस लौटे डॉक्टर

दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में रेजिडेंट डॉक्टरों की दो दिन से चली आ रही हड़ताल खत्म हो गई है. आंदोलनकारी डॉक्टरों ने सोमवार शाम अपनी हड़ताल वापस ले ली और काम पर वापस लौट आए.

रेजिडेंट डॉक्टरों ने स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय में अतिरिक्त सचिव संजीव कुमार से मुलाकात के बाद अपनी हड़ताल वापस ली. बैठक में प्रशासन मेडिकल संस्थान में सुरक्षा बढ़ाने की उनकी मांग पर राजी हो गया. जिसके तहत फौरी इंतजाम के तौर पर 18 मार्शलों को तैनात करने का फैसला किया गया.

इस बैठक के विवरण में कहा गया है कि इसके अलावा, अस्पताल 30 अतिरिक्त मार्शलों की तैनाती के लिए एक प्रस्ताव स्वास्थ्य मंत्रालय को मंजूरी के लिए सौंपेगा.

स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि एसएसबी के अतिरिक्त 100 सुरक्षाकर्मियों को तुरंत तैनात किया जाएगा. साथ ही एक समिति गठित की जाएगी जो अस्पताल परिसर में सुरक्षा गार्ड और मार्शल की जरूरी संख्या का आकलन करके दो हफ्ते में रिपोर्ट देगी.

इससे पहले, सोमवार को डॉक्टरों के दूसरे दिन भी हड़ताल पर रहने की वजह से अस्पताल में इमरजेंसी सेवाएं प्रभावित रही.

बता दें कि बीते शनिवार को इलाज के लिए आए दिल्ली पुलिस के एक हेड कांस्टेबल के बेटे ने एक डॉक्टर को कथित रूप से मुक्का मार दिया था. इसके बाद डॉक्टर अपने सहकर्मी के साथ हुई मारपीट और बदसलूकी से नाराज होकर हड़ताल पर चले गए थे.

रेजिडेंट डॉक्टरों की इस हड़ताल पर पुलिस ने कहा था कि सफदरजंग एन्क्लेव थाने में तैनात हेड कांस्टेबल वीरेंद्र का बेटा अक्षय कुमार अपने दोस्त राजेश के साथ रविवार सुबह अस्पताल गया था. अक्षय के पेट में दर्द था. इस दौरान उसकी वहां डॉक्टर से विवाद हो गया था.

(भाषा से इनपुट)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi