S M L

सबरीमाला LIVE Updates: जारी है 10-50 साल की महिलाओं के प्रवेश को लेकर घमासान, कैमरामैन घायल

सबरीमाला में भगवान अयप्पा मंदिर 5 नवंबर को एक दिन की पूजा के लिए खुलने के लिए तैयार हैं

| November 06, 2018, 09:27 AM IST

FP Staff

0

हाइलाइट

Nov 6, 2018

  • 13:47(IST)

    सोमवार शाम को मंदिर के कपाट खुलने के बाद जारी विरोध प्रदर्शन मंगलवार को तब और तेज हो गया जब प्रदर्शनकारियों के बीच ये खबर फैल गई की 10-50 वर्ष के बीच की महिला मंदिर के अंदर जाने की कोशिश कर रही है. इस दौरान प्रदर्शनकारियों की पुलिस से झड़प हो गई, इस झड़प में मीडियाकर्मियों के घायल होने की भी खबर है.   

  • 13:21(IST)

    इस बीच मलयालम फिल्मों की अभिनेत्री पार्वती थिरूवोथु ने सबरीमाला मंदिर पर चल रहे विवाद को लेकर न्यूज 18 से खास बातचीत में कहा कि लोग समझते हैं कि मासिक धर्म के दौरान महिलाएं अपवित्र होती हैं. महिलाओं की पवित्रता को लोग वजाइना और वर्जिनिटी से जोड़ कर देखते हैं. इसे दूर करने की जरूरत है और इसके लिए मुझे नहीं पता कि कितने साल या पीढ़ी लग जाएंगे.

  • 13:06(IST)

    सोमवार को केरल हाईकोर्ट ने इस मामले पर कहा था कि श्रद्धलुओं और पत्रकारों को मंदिर में जाने से नहीं रोका जाना चाहिए. इसी के साथ सरकार को मंदिर की रोज की गतिविधियों में दखल अंदाजी नहीं करनी चाहिए. कोर्ट ने ये भी कहा था कि एक विभागीय जांच उन पुलिस वालों के खिलाफ होनी चाहिए जिन्होंने श्रद्धालुओं की गाड़ियों को नुकसान पहुंचाया है.

  • 13:03(IST)

    इस बीच मलयालम फिल्मों की अभिनेत्री पार्वती थिरूवोथु ने सबरीमाला मंदिर पर चल रहे विवाद को लेकर न्यूज 18 से खास बातचीत में कहा कि लोग समझते हैं कि मासिक धर्म के दौरान महिलाएं अपवित्र होती हैं. महिलाओं की पवित्रता को लोग वजाइना और वर्जिनिटी से जोड़ कर देखते हैं. इसे दूर करने की जरूरत है और इसके लिए मुझे नहीं पता कि कितने साल या पीढ़ी लग जाएंगे.

  • 09:32(IST)

    मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मंगलवार को ये विरोधप्रदर्शन तब और तेज हो गया जब लोगों में ये खबर फैल गई की 10-50 साल की महिलाएं मंदिर में जाने की कोशिश कर रही हैं. इर दौरान एक कैमरामैन भी घायल हो गया है. 

  • 09:22(IST)

    भगवान अयप्पा की विशेष पूजा के लिए मंदिर के कपाट सोमवार शाम को एक बार फिर खोले गए. इसके बाद से ही 10 से 50 साल की महिलाओं के प्रवेश को लेकर घमासान जारी है.

  • 09:14(IST)

    त्रिशूर की रहने वाली एक 52 वर्षीय महिला ललिता ने, पुलिस सुरक्षा में सबरीमाला मंदिर में भगवान अयप्पा की पूजा की. अपने परिवार के साथ भगवान अयप्पा के दर्शन करने आई इस महिला को प्रदर्शनकारी मंदिर के अंदर जाने से रोक रहे थे.

  • 21:35(IST)

    एक 30 वर्षीय महिला अंजू उसके पति और दो बच्चों के साथ सबरीमाला मंदिर के दर्शन करने के लिए पंबा पहुंच चुकी है. पुलिस उन्हें पुलिस स्टेशन ले गई है. एसपी राहुल नायर का कहना है कि अंजू ने अभी तक पुलिस सुरक्षा नहीं मांगी है लेकिन अगर वह मांगेंगी तो उन्हें दी जाएगी.

  • 21:02(IST)

    सबरीमाला मंदिर में पहली बार 15 महिला पुलिसकर्मियों को मंदिर परिसर में पूजा करने का अवसर मिला. यह सभी महिलाएं एसआई और इंस्पेक्टर रैंक की अधिकारी हैं. इसी खबर के बीच यह बात भी  सामने आई कि इन सभी महिला अधिकारियों की उम्र 50 वर्ष से ज्यादा है. इस पर मंदिर के सिक्योरिटी इन-चार्ज आईजी अजीत ने सफाई देते हुए कहा, 'हमने उम्र के आधार पर नहीं बल्कि काबिलियत के आधार पर महिला अधिकारियों का चुनाव किया था.'

  • 20:09(IST)

    सबरीमाला मंदिर के मुख्य पुजारी के राजीवारू ने कहा कि उन्होंने सिर्फ अपने परिवार से महिलाओं के मंदिर के पवित्रतम स्थल तक जाने वाले मुद्दे पर बात की है. उन्होंने इस मुद्दे पर राज्य बीजेपी अध्यक्ष से बातचीत से इनकार किया है.

  • 19:06(IST)

    बीजेपी अध्यक्ष पीएस श्रीधरन पिल्लई ने सबरीमाला मंदिर के पुजारी से मुलाकात की खबरों की पुष्टि की है.  उन्होंने उनकी मुलाकात पर उठ रहे सवालों पर कहा, टतो क्या हुआ? मैं एक वकील भी हूं, उन्होंने (मंदिर के पुजारी) मुझसे वैधिक राय ली है. कई सीपीएम पार्टी के मंत्रियों ने भी मुझसे राय ली है.'

  • 17:55(IST)

    सबरीमाला में सिक्योरिटी इन-चार्ज आईजी अजीत कुमार ने कहा, 'हमने सभी भक्तों के 'दर्शन' को सुविधाजनक बनाने के लिए पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था की है. हमारे पास इस क्षेत्र में कई घटनाओं की आशंका है, जिन्हें ध्यान में रखते हुए, हमने सभी के लिए सुरक्षा व्यवस्था का इंतजाम किया है.'

  • 17:26(IST)

    सोमवार को पांच घंटे के लिए मंदिर का द्वार खोला गया है. सबरीमाला में 50 से ज्यादा महिला सुरक्षाकर्मी भी तैनात की गई हैं.

  • 17:21(IST)

    आज यानी सोमवार को रात दस बजे तक मंदिर के द्वार खुले हैं

  • 17:20(IST)

    सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद से अब तक सबरीमाला मंदिर में 12 से 50 आयुवर्ग की एक भी महिला प्रवेश नहीं कर सकी है. वहीं सोमवार को किसी भी महिला के मंदिर आने की उम्मीद नहीं है.

  • 17:19(IST)

    2300 से ज्यादा जवानों को सबरीमाला में तैनात किया गया है. 

  • 17:18(IST)

    मंदिर के द्वार खुलने के बाद पवित्र पथिनेत्तम पदि पर चढ़ते श्रद्धालू.

  • 17:16(IST)

    कल शाम 'अथजा पूजा' के बाद मंदिर बंद हो जाएगा.

  • 17:15(IST)
    सोमवार शाम सबरीमाला मंदिर के द्वार दो दिनों के लिए खोले गए हैं.
    
  • 14:09(IST)

    केरल हाईकोर्ट ने कहा है कि श्रद्धालुओं और मीडियाकर्मियों को जाने से नहीं रोका जा सकता. कोर्ट ने साफ शब्दों में कहा है कि सरकार मंदिर के रोज के कार्यों में हस्तक्षेप नहीं कर सकती. कोर्ट ने कहा है कि एक विभागीय जांच उन पुलिस वालों के खिलाफ होनी चाहिए जिन्होंने गाड़ियों को नुकसान पहुंचाया है.

  • 13:54(IST)

    मातृभूमि की रिपोर्ट के मुताबिक, केरल बीजेपी अध्यक्ष श्रीधरन पिल्लई ने कथित रूप से कहा है कि मंदिर के मुख्य पुजारी ने मंदिर में महिलाओं के प्रवेश को रोकने के लिए कपाट बंद करने के विकल्प पर उनसे चर्चा की थी. स्थानीय मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, पिल्लई का एक ऑडियो टेप सामने आया है जिसमें उन्होंने सबरीमाला पुजारी से कहा है कि लोग हमारे प्रोपागेंडा में फंस गए हैं.

  • 12:42(IST)

    महिला पुलिसकर्मी मंदिर परिसर की सुरक्षा में

    बताया जा रहा है कि पहली बार महिला पुलिसकर्मियों को मंदिर परिसर में दाखिल होने दिया गया है. सोमवार सुबह 15 महिला पुलिसकर्मियों को सुरक्षा के लिए भेजा गया है.

  • 12:18(IST)

    पुलिस ने सन्निधानम स्थित सरकारी गेस्ट हाउस को बंद कर दिया है. सूत्रों ने बताया कि किसी को रूम में रहने की इजाजत नहीं दी गई है.

  • 12:17(IST)

    सबरीमाला मंदिर के तंत्री को मीडिया से बात करने से मना कर दिया गया है. महिलाओं की मंदिर में प्रवेश की कोशिश करने पर मंदिर का कपाट बंद करने की धमकी देने के बाद मीडिया उनसे इस मामले पर बात करना चाहती थी. हालांकि, एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी इन बातों को खारिज कर दिया है.

  • 11:45(IST)

    इंडियान एक्सप्रेस के मुताबिक, मुख्य पुजारी और तंत्री एक साथ मिलकर मंदिर का कपाट खोलेंगे और दीप जलाएंगे.

  • 11:44(IST)

    इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, रविवार शाम को मंदिर जाने के लिए पहुंचे श्रद्धालु और मीडियाकर्मियों को पंबा और सन्निधानम के लिए नहीं जाने दिया जा रहा है. इसके बाद ये लोग वहां प्रदर्शन कर रहे हैं.

  • 10:43(IST)

    केरल बीजेपी अध्यक्ष पीएस श्रीधरन पिल्लई ने राज्य की लेफ्ट सरकार की आलोचना की है. उन्होंने कहा, राज्य की वाम सरकार अयप्पा श्रद्धालुओं पर प्रतिबंध लगा रही है और उनके मंदिर में प्रवेश को रोक रही है. पिल्लई ने कहा, पुलिस श्रद्धालुओं को रास्ते में रोकने का प्रयास कर रही है. निजी वाहनों को रोका जा रहा है और पब्लिक ट्रांसपोर्ट का कोई ठिकाना नहीं है. यह लोगों के मौलिक अधिकारों पर हमला है.

  • 10:39(IST)

    प्रदर्शनकारियों के मंदिर में प्रवेश को रोकने के लिए फेस डिटेक्शन टेक्नोलॉजी और सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं. पिछले महीने काफी हंगामा हुआ था. पुलिस ने इन सब बातों को ध्यान में रखते हुए पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था की है.

  • 10:37(IST)

    मंदिर के पुजारियों ने धमकी दी है कि अगर 10 से 50 वर्ष की उम्र की महिलाएं मंदिर में प्रवेश करने की कोशिश करेंगी तो सबरीमाला का कपाट बंद कर दिया जाएगा.

  • 10:35(IST)

    सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद पिछले महीने भी सबरीमाला के कपाट खुले थे, लेकिन भारी विरोध के बाद 10 से 50 वर्ष की उम्र की महिलाओं को मंदिर में प्रवेश नहीं मिल पाया था. इसी को ध्यान में रखते हुए इस बार भारी सुरक्षा व्यवस्था की गई है.

सबरीमाला LIVE Updates: जारी है 10-50 साल की  महिलाओं के प्रवेश को लेकर घमासान, कैमरामैन घायल
Loading...

सबरीमाला में भगवान अयप्पा मंदिर 5 नवंबर को एक दिन की पूजा के लिए खुलने के लिए तैयार हैं. इसके चलते पंबा और अन्य इलाकों में किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के उद्देश्य से धारा 144 लागू है. यह निषेधाज्ञा मंगलवार तक जारी रहेगी. साथ ही प्रशासन ने सबरीमाला मंदिर और आसपास के इलाके में चार या दो से अधिक लोगों के एक साथ पूजा करने पर रोक लगा दी है.

इसके अलावा भक्तों की सुरक्षा को देखते हुए 2300 सुरक्षा कर्मियों को तैनात किया गया है, जिसमें 20 सदस्यों वाली एक कमान्डो टीम और 100 सदस्यीय एक महिला टीम भी तैनाती की गई है.

सबरीमाला मंदिर में 10-50 आयु वर्ग की महिलाओं के प्रवेश के खिलाफ पिछले महीने हुए हिंसक विरोध प्रदर्शनों को देखते हुए शनिवार की रात से ही मंदिर की सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद कर दी गई थी. पुलिस सूत्रों के अनुसार दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 के तहत पंबा, नीलक्कल और इलुवांगल में चार या इससे अधिक लोगों के जुटने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है.

आपको बता दें कि मंदिर को 17-22 अक्टूबर तक पांच दिन तक चलने वाली मासिक पूजा के लिए खोला गया था. उस दौरान प्रतिबंधित आयु वर्ग की महिलाओं के मंदिर में प्रवेश के खिलाफ श्रद्धालुओं और अन्य संगठनों का विरोध प्रदर्शन देखा गया था. कम से कम एक दर्जन युवा महिलाओं ने प्रार्थना करने का असफल प्रयास किया था. लेकिन उन्हें भारी विरोध का सामना करना पड़ा था. पुलिस के मुताबिक, हिंसक विरोध प्रदर्शनों के खिलाफ 543 मामले दर्ज किये गए और गुरुवार तक 3,701 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है.

इससे पहले पिछले महीने भगवान अयप्पा मंदिर में दर्शन के लिए पहाड़ी पर चढ़ाई करने वाले एक वृद्ध श्रद्धालु का शव मिलने के बाद बीजेपी ने शुक्रवार को पथनामथिता में प्रदर्शन किया था. बीजेपी ने आरोप लगाया था कि सभी आयुवर्ग की महिलाओं को सबरीमाला मंदिर में प्रवेश की अनुमति देने वाले सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद पिछले महीने श्रद्धालुओं के खिलाफ पुलिस की कार्रवाई में शिवदासन (60) की मृत्यु हो गई थी. वहीं पुलिस ने कहा था कि वो एक दुर्घटना थी.

(एजेंसी से इनपुट)

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi