S M L

प्रद्युम्न हत्याकांड: आरोपी को 22 नवंबर तक इंस्पेक्शन हाउस भेजा गया

इससे पहले गुरुग्राम पुलिस ने बस कंडक्टर को इस मामले में गिरफ्तार किया था, लेकिन सीबीआई जांच में स्कूल के ही एक छात्र का नाम सामने आया है

Updated On: Nov 11, 2017 08:37 PM IST

Bhasha

0
प्रद्युम्न हत्याकांड: आरोपी को 22 नवंबर तक इंस्पेक्शन हाउस भेजा गया

गुरुग्राम की एक ज्युवेनाइल कोर्ट ने रायन इंटरनेशनल स्कूल के सात वर्षीय छात्र प्रद्युम्न की हत्या के सिलसिले में गिरफ्तार एक किशोर को 22 नवंबर तक के लिए शनिवार को इंस्पेक्शन हाउस भेज दिया.

सीबीआई सूत्रों ने बताया कि कोर्ट ने मामले में सुनवाई की अगली तारीख 22 नवंबर निर्धारित की है.

उन्होंने बताया कि इससे पहले दिन में गिरफ्तार किशोर को सीबीआई स्कूल ले गई ताकि अपराध का नाटकीय रूपांतरण किया जा सके. वह स्कूल में 11 वीं कक्षा का छात्र था.

सूत्रों ने बताया कि टीम आरोपी के साथ दोपहर के करीब स्कूल पहुंची और तीन घंटे से अधिक समय तक वहां रहीं. उसके बाद उसे किशोर कोर्ट ले जाया गया जहां मामले में सुनवाई होने वाली थी.

सूत्रों ने बताया कि टीम ने किशोर से कहा कि वह आठ सितंबर को हुई घटना को स्पष्ट करे जब स्कूल की दूसरी कक्षा के छात्र प्रद्युम्न की कथित तौर पर उसने हत्या कर दी थी. उससे घटना की समूची कड़ी को स्पष्ट करने को कहा गया. उससे उस दिन हुई छोटी-छोटी बातों का ब्योरा देने को कहा गया. टीम ने प्रमाणित करने की कवायद के तहत विभिन्न माप ली और समय रिकॉर्ड किया जो अपराध को करने के लिए जरूरी था. ऐसा आरोपी के दावे का पता लगाने के लिए किया गया.

उसने कैसे कथित तौर पर प्रद्युम्न की हत्या की इस बात को जानने के लिए सीबीआई अधिकारियों ने सॉफ्ट टॉय के रूप में एक डमी का भी इस्तेमाल किया.

इस बीच, किशोर के पिता ने शनिवार को आरोप लगाया कि सीबीआई उनके बेटे को यातना दे रही है. इसका एजेंसी ने जोरदार खंडन किया.

8 सितंबर को रायन इंटरनेशनल स्कूल में मृत पाया गया था प्रद्युम्न

सूत्रों ने बताया कि ज्युवेनाइल कोर्ट ने एक स्वतंत्र कल्याण अधिकारी की नियुक्ति की है ताकि जांच और गिरफ्तार छात्र से पूछताछ की निगरानी की जा सके.

उन्होंने कहा कि अधिकारी पूछताछ सत्र और आरोपी को किसी स्थान पर ले जाने के दौरान उपस्थित रहता है.

सूत्रों ने बताया कि एजेंसी हत्या के मामले में सभी पहलुओं और संभावनाओं का विश्लेषण करने का प्रयास कर रही है.

प्रद्युम्न गत आठ सितंबर की सुबह रायन इंटरनेशनल स्कूल के शौचालय में मृत पाया गया था. उसकी गला रेतकर हत्या की गई थी. यह घटना उसके पिता के उसे स्कूल छोड़ने के एक घंटे के भीतर हुई थी.

गुरुग्राम पुलिस ने हत्या का ठीकरा स्कूल के बस कंडक्टर पर फोड़ते हुए उसे गिरफ्तार किया था.

इस मामले ने तब नाटकीय मोड़ लिया जब सीबीआई ने हाल में घोषणा की कि उसने प्रद्युम्न की हत्या के सिलसिले में स्कूल में ही 11 वीं कक्षा में पढ़ने वाले एक छात्र को गिरफ्तार किया है. उसने गुरुग्राम पुलिस की पूरी थ्योरी को नकार दिया जिसमें उसने कहा था कि प्रद्युम्न की हत्या स्कूल के बस कंडक्टर अशोक कुमार ने की थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi