S M L

सबरीमाला विवाद पर RSS प्रमुख मोहन भागवत को दिख रहा है 'श्रीलंकाई कनेक्शन'

आरएसएस के मोहन भागवत, प्रयागराज में वीएचपी के धर्म संसद में सबरीमाला मंदिर विवाद पर कहा- उसकी अपनी परंपरा रहती है लेकिन देशभर के करोड़ों हिंदुओं की भावनाओं का सम्मान इससे आहत होगा

Updated On: Jan 31, 2019 04:26 PM IST

FP Staff

0
सबरीमाला विवाद पर RSS प्रमुख मोहन भागवत को दिख रहा है 'श्रीलंकाई कनेक्शन'

प्रयागराज में चल रहे कुंभ मेले के दौरान राम मंदिर निर्माण का मुद्दा छाया हुआ है. इन सबके बीच विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) की धर्म संसद का आयोजन किया गया. वीएचपी की धर्म संसद में हिस्सा लेने के लिए मोहन भागवत भी पहुंचे. माना जा रहा है कि 1 फरवरी को इस धर्म संसद में राम मंदिर मुद्दे पर प्रस्ताव आ सकता है. वहीं आरएसएस के मोहन भागवत, प्रयागराज में वीएचपी के धर्म संसद में सबरीमाला मंदिर विवाद पर कहा- उसकी अपनी परंपरा रहती है लेकिन देशभर के करोड़ों हिंदुओं की भावनाओं का सम्मान इससे आहत होगा, ये विचार कोर्ट ने नहीं किया.

मोहन भागवत ने आगे कहा- कोर्ट ने कहा महिला अगर प्रवेश चाहती है तो करने देना चाहिए. अगर किसी को रोका जाता है तो उसको सुरक्षा देकर जहां से सब दर्शन करते हैं वहां से ले जावा चाहिए. लेकिन कोई जाना नहीं चाह रहा है इसलिए श्रीलंका से लाकर पीछे के दरवाजे से घुसाया जा रहा है.

वीएचपी की धर्म संसद से इतर प्रयागराज में संतों की धर्म संसद के दौरान ऐलान किया गया है कि संत समाज के लोग अगले महीने प्रयाग से अयोध्या के लिए कूच करेंगे. 'परमधर्म संसद' की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि मंदिर निर्माण के लिए 21 फरवरी की तारीख तय की गई है. कोर्ट के रवैये पर नाराजगी जताते हुए कहा गया है कि खेद का विषय है कि कुत्ते तक को तत्काल न्याय दिलाने वाले राम के देश में रामजन्मभूमि के मुकदमे को न्याय नहीं मिल रहा है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi