विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

रोहिंग्या मुद्दे पर भारत की चिंताओं से वाकिफ है अमेरिका: अधिकारी

केंद्र सरकार ने 18 सितंबर को हाईकोर्ट में अवैध प्रवासी बताते हुए कहा था कि इनका देश में रहना राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा पैदा करता है

Bhasha Updated On: Oct 28, 2017 11:15 AM IST

0
रोहिंग्या मुद्दे पर भारत की चिंताओं से वाकिफ है अमेरिका: अधिकारी

अमेरिका की एक वरिष्ठ राजनयिक ने कहा है कि रोहिंग्याओं के बड़ी संख्या में बांग्लादेश में आने से पैदा हुए ‘संभावित अस्थिरकारी परिणामों’ को लेकर भारत की चिंताओं को अमेरिका समझता है.

दक्षिण एवं मध्य एशिया मामलों की कार्यकारी सहायक मंत्री एवं अफगानिस्तान तथा पाकिस्तान के लिए कार्यकारी विशेष प्रतिनिधि एलिस जी वेल्स ने कहा कि अमेरिका के विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन की हालिया भारत यात्रा के दौरान रोहिंग्याओं का मुद्दा सामने आया था.

एलिस ने कहा, ‘इस दौरान रोहिंग्याओं का मुद्दा उठा था. जाहिर तौर पर हम बांग्लादेश के अंदर बड़ी संख्या में रोहिंग्याओं के प्रवेश से उत्पन्न संभावित अस्थिरकारी परिणामों को लेकर भारत की चिंताओं को समझते हैं.’

भारत ने बताया था राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए चिंता का विषय 

उन्होंने कहा कि अमेरिका का मानना है कि ‘यह सुनिश्चित किया जाना आवश्यक है कि म्यांमार सरकार रखाइन प्रांत के अंदर नागरिकों की सुरक्षा के प्रति अपनी प्रतिबद्धता की जिम्मेदारी निभाए.’

इससे पहले रोहिंग्या शरणार्थियों को केंद्र सरकार ने 18 सितंबर को हाईकोर्ट में अवैध प्रवासी बताते हुए कहा था कि इनका देश में रहना राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा पैदा करता है.

वहीं हाल ही में संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) ने रोहिंग्या मुस्लिम समुदाय के मुश्किलों को कम करने और उनके जीवन स्तर को सुधारने के उद्देश्य से लगभग 45 करोड़ रुपए यानि 70 लाख डॉलर की राशि देने की घोषणा की है. यह घोषणा संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में रोहिंग्या शरणार्थी संकट पर संकल्प सम्मेलन के दौरान की गई थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi