S M L

हाइवे किनारे शराबबंदी के समर्थन में रॉबर्ट वाड्रा

वाड्रा ने फैसले पर अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा- इसकी वजह से 10 लाख कर्मचारी हो जाएंगे प्रभावित

Updated On: Apr 03, 2017 06:29 PM IST

FP Staff

0
हाइवे किनारे शराबबंदी के समर्थन में रॉबर्ट वाड्रा

सुप्रीम कोर्ट के देश भर के नेशनल हाइवे और स्टेट हाइवे के किनारे शराबबंदी पर कारोबारी और प्रियंका गांधी के पति रॉबर्ट वाड्रा ने सुधार की मांग की है. वाड्रा ने कहा कि, इस आदेश से शराब दुकानों और उनके कर्मचारियों पर असर नहीं पड़ना चाहिए.

रॉबर्ट वाड्रा की बहन मिशेल वाड्रा का अप्रैल 2001 में दिल्ली-जयपुर हाईवे पर शराबी ड्राइवर की वजह से सड़क हादसे में मौत हो गई थी. उन्होंने फेसबुक पोस्ट के जरिए सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर अपनी राय व्यक्त की है. उन्होंने लिखा कि, 'सड़क सुरक्षा के लिहाज से यह बड़ा फैसला है. मैंने भी एक हादसे में अपनी बहन को खो दिया था. मैं सुप्रीम कोर्ट के हाइवे के पास शराब की दुकानों को बंद करने के आदेश को समर्थन करता हूं.'

supreme court

वाड्रा ने आगे लिखा कि, 'इससे कुछ बड़े प्रतिष्ठानों पर उल्टा असर पड़ सकता है. होटल उद्योग पर भी बहुत बुरा असर पड़ेगा. इसकी वजह से लगभग 10 लाख कर्मचारी प्रभावित होंगे.'

भ्रष्टाचार और कालाबाजारी बढ़ेगी

वाड्रा ने पोस्‍ट के मुताबिक, 'कुछ लोग चोरी-छिपे शराब बेच रहे हैं. यह इस आदेश के मकसद को ही खत्म कर रहे हैं. इससे भ्रष्‍टाचार और शराब की कालाबाजारी भी बढ़ सकती है. मैं उम्‍मीद करता हूं कि इस आदेश में कुछ सुधारों पर विचार किया जाएगा और आने वाले समय में इन्‍हें लागू किया जाएगा. इससे नौकरियों की कमी और उद्योगों को नुकसान को रोका जा सकेगा.'

सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में कहा था कि नेशनल और स्टेट हाइवे के 220 मीटर के दायरे से बाहर शराब बेची जा सकेगी. लेकिन यह आदेश वहीं लागू होगा जहां की आबादी 20 हजार तक है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi