S M L

मनी लॉन्ड्रिंग केस: वाड्रा के सहयोगी मनोज अरोड़ा को 16 फरवरी तक मिली गिरफ्तारी से राहत

वहीं रॉबर्ट वाड्रा से बुधवार को प्रवर्तन निदेशालय (ED) मनी लॉन्ड्रिंग मामले में पहली बार पूछताछ कर सकती है

Updated On: Feb 06, 2019 02:37 PM IST

FP Staff

0
मनी लॉन्ड्रिंग केस: वाड्रा के सहयोगी मनोज अरोड़ा को 16 फरवरी तक मिली गिरफ्तारी से राहत

दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने मनी लॉन्ड्रिंग केस में रॉबर्ट वाड्रा के सहयोगी मनोज अरोड़ा की अंतरिम सुरक्षा बढ़ा दी है. मनोज अरोड़ा की अंतरिम सुरक्षा 16 फरवरी तक बढ़ाई गई है. इसका मतलब मनोज अरोड़ा को 16 फरवरी तक गिरफ्तार नहीं किया जा सकेगा.

दरअसल मनोज अरोड़ा आज यानी बुधवार को पटियाला हाउस कोर्ट में पेश हुए थे, जिसके बाद कोर्ट ने ये फैसला सुनाया. इस मामले में रॉबर्ट वाड्रा को भी 16 फरवरी तक अंतरिम जमानत मिली हुई है.

वहीं दूसरी तरफ बताया जा रहा है कि रॉबर्ट वाड्रा से बुधवार को प्रवर्तन निदेशालय (ED) मनी लॉन्ड्रिंग मामले में पहली बार पूछताछ कर सकती है. इसके लिए रॉबर्ट वाड्रा बुधवार शाम 4 बजे ईडी के दफ्तर में पेश हो सकते हैं. आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक यह मामला कथित रूप से गैरकानूनी तरीके से विदेशों में संपत्तियां रखने से संबंधित है.

वाड्रा ने इस मामले में अग्रिम जमानत के लिए दिल्ली की अदालत की दरवाजा खटखटाया था. कोर्ट ने उन्हें निर्देश दिया था कि वो केंद्रीय जांच एजेंसी से जांच में सहयोग करें. साथ ही अदालन ने उन्हें निर्देश दिया था कि वो छह फरवरी को खुद उपस्थित होकर जांच में शामिल हों.

यह मामला लंदन में 12 ब्रायनस्टन स्कावयर पर 19 लाख पाउंड की संपत्ति की खरीद में कथित रूप से मनी लांड्रिंग जांच से संबंधित है. सूत्रों ने कहा कि जब वाड्रा एजेंसी के सामने पेश होंगे तो उनसे लंदन में कुछ अचल संपत्तियों की खरीद और स्वामित्व (मालिकाना हक) से संबंधित सौदों के बारे में पूछा जाएगा. उनका बयान मनी लांड्रिंग रोधक कानून के तहत दर्ज किया जाएगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi