विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

अशोक सिंह हत्याकांड में पूर्व सांसद प्रभुनाथ सिंह को आजीवन कारावास की सजा

विधायक अशोक सिंह की हत्या के मामले में उम्रकैद की सजा

Amitesh Amitesh Updated On: May 23, 2017 12:40 PM IST

0
अशोक सिंह हत्याकांड में पूर्व सांसद प्रभुनाथ सिंह को आजीवन कारावास की सजा

हजारीबाग की अदालत ने आरजेडी नेता और पूर्व सांसद प्रभुनाथ सिंह को जनता दल विधायक अशोक सिंह की हत्या के मामले में  उम्रकैद की सजा सुनाई है. प्रभुनाथ सिंह के अलावा इस मामले में दोषी उनके छोटे भाई दीनानाथ सिंह और रितेश सिंह को भी उम्रकैद की सजा सुनाई गई है. इन तीनों को उम्रकैद के साथ-साथ 40-40 हजार रूपए का जुर्माना भी लगाया गया है.

हजारीबाग जेल में बंद प्रभुनाथ सिंह को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए इस सजा सुनाई गई. 22 साल पहले 1995 में जनता दल के विधायक अशोक सिंह की हत्या पटना के उनके सरकारी आवास पर कर दी गई थी. शाम साढे सात बजे के आस-पास ही पटना में  उनकी हत्या कर दी गई थी. जिसके बाद आरोप प्रभुनाथ सिंह और बाकी लोगों पर लगा था.

जरूर पढ़ें: लालू के दोनों 'बाहुबली' सलाखों के पीछे: बिहार की सियासत पर क्या होगा असर?

अशोक सिंह बिहार के सारण जिले की मशरक विधानसभा सीट से चुनाव में प्रभुनाथ सिंह हो को हराया था जिसके बाद से ही दोनों के बीच वर्चस्व की लड़ाई काफी तेज हो गई थी. वर्चस्व की लड़ाई में ही अशोक सिंह की हत्या कर दी गई थी.

फैसले के बाद प्रभुनाथ सिंह के भाई और आरजेडी विधायक केदारनाथ सिंह ने कहा कि उन्हें कोर्ट पर पूरा भरोसा है और इस फैसले के खिलाफ वो हाईकोर्ट में अपील करेंगे.

हजारीबाग कोर्ट में सुबह से ही प्रभुनाथ सिंह के भाई केदारनाथ सिंह के अलावा समर्थक मौजूद थे.लेकिन, सबको निराशा ही हाथ लगी.

उधर, दिवंगत अशोक सिंह की पत्नी चांदनी देवी ने हजारीबाग कोर्ट के फैसले पर खुशी जाहिर करते हुए कहा है कि वो भी हाईकोर्ट में अपील करेंगी. चांदनी देवी और उनका पूरा परिवार इस मामले में प्रभुनाथ सिंह और दूसरे दोषियों को फांसी की सजा देने की मांग कर रहा था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi