S M L

तकनीक की बदौलत भारत की होगी 21वीं सदी: मुकेश अंबानी

मुकेश अंबानी ने इंडिया टुडे के कॉन्क्लेव में कहा- इंडिया टुडे इस ग्रेट बट इंडिया टुमॉरो विल बी फैंटास्टिक

Updated On: Mar 18, 2017 07:10 PM IST

FP Staff

0
तकनीक की बदौलत भारत की होगी 21वीं सदी: मुकेश अंबानी

इंडिया टुडे कॉनक्लेव 2017 के दूसरे दिन 'क्या नई टेक्नोलॉजी भारत को बदल देगी' सत्र में रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने शिरकत की. इस सत्र में मुकेश अंबानी ने कॉनक्लेव 2017 के थीम 'द ग्रेट डिसरप्शन' पर बोलते हुए कहा कि, 'इंडिया टुडे इज ग्रेट बट इंडिया टुमॉरो विल बी फैंटास्टिक.'

मुकेश अंबानी के कहा कि वह दिन दूर नहीं जब भारत दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगी. आज हम विश्व की पांचवी बड़ी अर्थव्यवस्था हैं और दुनिया की सबसे तेज बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था बन चुके हैं. मुकेश अंबानी ने कहा कि इक्कीसवीं सदी में तकनीक क्रांति के सहारे भारत सुपर पावर बनने को तैयार है. अंबानी के अनुसार सुपरपावर बनने के लिए इन चार बातों को ध्यान में रखने की जरूरत है...

अठारहवीं सदी में औद्योगिक क्रांति से वैश्विक आर्थिक गतिविधियों का केंद्र भारत और चीन से बदलकर यूरोप बन गया था. औद्योगिक क्रांति के सहारे यूरोप वर्ल्ड इकोनॉमी पर लगभग 100 साल तक काबिज रहा.

उन्नीसवीं सदी में उत्पादन और मैन्यूफैक्चरिंग के सहारे अमेरिका आर्थिक गतिविधियों का केंद्र बना और यूरोप के साथ वर्ल्ड इकोनॉमी पर लंबे समय तक बना रहा.

बीसवीं सदी में इलेक्ट्रॉनिक क्रांति के सहारे सबसे ज्यादा फायदा अमेरिका और जापान को हुआ. इस क्रांति में चीन ने भी अहम किरदार निभाया और विश्व के लिए मैन्यूफैक्चरिंग हब बनकर वह सुपरपावर बनने में कामयाब रहा.

इक्कीसवीं सदी में अब चौथा औद्योगिक क्रांति का समय आ चुका है. इस युग में डिजिटल और बायोलॉजिकल साइंस वर्ल्ड इकोनॉमिक पावर को एक बार फिर से परिभाषित करने जा रहा है. यह युग मोबाइल इंटरनेट, क्लाउड  कंप्यूटिंग और कनेक्टिविटी के सहारे नया ग्लोबल प्लेयर तैयार करेगा. इस युग में एक्सपोनेनशियल ग्रोथ के सहारे भारत दुनिया की सबसे बड़ी शक्ति बनकर उभर सकती है.

(डिसक्लोजर: फ़र्स्टपोस्ट हिंदी नेटवर्क 18 का हिस्सा है, जिसका स्वामित्व रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के पास है. )

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi