S M L

रिसर्च के जरिए जन समस्याओं का समाधान करें वैज्ञानिक: हर्षवर्धन

केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘प्रधानमंत्री मोदी देश को विज्ञान के क्षेत्र में आगे ले जाना चाहते हैं. वह चाहते हैं कि वैज्ञानिक समुदाय सिर्फ शोध पत्रों के प्रकाशन तक सीमित ना रहे

Updated On: Nov 09, 2017 05:51 PM IST

Bhasha

0
रिसर्च के जरिए जन समस्याओं का समाधान करें वैज्ञानिक: हर्षवर्धन

वैज्ञानिकों और शोधार्थियों से सिर्फ शोध पत्रों के प्रकाशन तक सीमित रहने के स्थान पर उनके जरिए जनता की समस्याओं का समाधान खोजने की अपील करते हुए केंद्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री हर्षवर्धन ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विचारों में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के विचारों का डीएनए मौजूद है और वह भी वाजपेयी की तरह देश को विज्ञान के क्षेत्र में अग्रणी बनाना चाहते हैं.

हर्षवर्धन विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय के तत्वावधान में वैज्ञानिक एवं औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर) द्वारा यहां राष्ट्रीय समुद्र विज्ञान संस्थान (एनआईओ) में ‘हिन्द महासागर आर्थिक एवं भू-रणनीतिक महत्व’ विषय पर आयोजित कार्यशाला में वैज्ञानिकों एवं मीडिया को संबोधित कर रहे थे.

केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘प्रधानमंत्री मोदी देश को विज्ञान के क्षेत्र में आगे ले जाना चाहते हैं. वह चाहते हैं कि वैज्ञानिक समुदाय सिर्फ शोध पत्रों के प्रकाशन तक सीमित ना रहे, बल्कि अपने शोधों और खोजों से देश की जनता की समस्याओं का समाधान करे.’

उन्होंने कहा कि मोदी के विचारों में वाजपेयी के विचारों का डीएनए है. वह वाजपेयी की तरह ही देश को विज्ञान के क्षेत्र में अग्रणी बनाना चाहते हैं. ‘जिस तरह वाजपेयी ने परमाणु परीक्षणों से दुनिया में देश की धाक जमाई और जय जवान, जय किसान और जय विज्ञान का नारा दिया, उसी तरह की सोच मोदी भी रखते हैं.’

हर्षवर्धन ने कहा कि मोदी देश में स्वच्छ पेयजल संबंधी समस्या का समाधान चाहते हैं और इसीलिए वह इस्राइल दौरे पर समुद्र के पानी को मिनटों में पीने योग्य बना देने वाली प्रणाली भी देखने गए थे. भारत के वैज्ञानिक भी इस दिशा में काम कर रहे हैं और भविष्य में समुद्र के पानी से प्यास बुझाई जा सकेगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi