S M L

Republic Day 2019: दिल्ली में सिक्योरिटी टाइट, 25000 से अधिक सुरक्षाकर्मी तैनात

गणतंत्र दिवस समारोहों के दौरान हमले की साजिश रच रहे दो आतंकवादियों को गिरफ्तार किया गया है

Updated On: Jan 25, 2019 06:30 PM IST

Bhasha

0
Republic Day 2019: दिल्ली में सिक्योरिटी टाइट, 25000 से अधिक सुरक्षाकर्मी तैनात

गणतंत्र दिवस समारोहों के मद्देनजर दिल्ली में करीब 25,000 सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं और मध्य दिल्ली में रणनीतिक रूप से अहम स्थानों पर सुरक्षा कड़ी कर दी गई है. मध्य दिल्ली आतंकवादियों के निशाने पर थी. गणतंत्र दिवस समारोहों के दौरान हमले की साजिश रच रहे दो आतंकवादियों को गिरफ्तार किया गया है.

जैश ए मोहम्मद के दो संदिग्ध सदस्यों अब्दुल लतीफ गनई (29) उर्फ उमैर उर्फ दिलावर और हिलाल अहमद भट (26) की गिरफ्तारी के बाद दिल्ली में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है. दोनों संदिग्ध आतंकवादी 70वें गणतंत्र दिवस समारोहों के दौरान शहर में आतंकवादी हमले करने की साजिश रच रहे थे.

पुलिस ने बताया कि जैश-ए-मोहम्मद के गिरफ्तार किए गए सदस्यों ने हमलों के लिए अपने संभावित लक्ष्यों के तौर पर लाजपत नगर बाजार, हज मंजिल, तुर्कमान गेट, पहाड़गंज, इंडिया गेट और पूर्वी दिल्ली में आईजीएल गैस पाइपलाइन को चिह्नित किया था.

पुलिस उपायुक्त (नयी दिल्ली) मधुर वर्मा ने बताया कि शहर में बहुस्तरीय सुरक्षा प्रबंध किए गए हैं. यातायात अधिकारियों समेत करीब 25,000 पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं. राजपथ में सीसीटीवी कैमरा और चेहरा पहचानने वाले कैमरे भी लगाए गए हैं.

राजपथ से लाल किले तक आठ किलोमीटर के परेड मार्ग पर और निकटवर्ती इलाकों में नजर रखने के लिए मोबाइल हिट दल, विमान भेदी तोप और शार्पशूटर भी तैनात किए गए हैं. पिछले साल अगस्त में औपचारिक रूप से शामिल स्वाट इकाई की 36 महिला कमांडो भी सुरक्षा प्रबंधों का हिस्सा होंगे.

एनएसजी प्रशिक्षित कमांडो के साथ पराक्रम वैन रणनीतिक स्थलों पर गश्त कर रही हैं. ऊंची इमारतों पर स्नाइपर तैनात किए गए हैं और परेड मार्ग पर लोगों की गतिविधि पर सीसीटीवी कैमरा नजर रख रहे हैं. हवाई क्षेत्र की सुरक्षा के लिए विमान भेदी तोपों समेत सुरक्षा के व्यापक प्रबंध किए गए हैं.

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि दिल्ली पुलिस और केंद्रीय सुरक्षा बलों के करीब 25000 सुरक्षा कर्मी दिल्ली में तैनात किए गए हैं. किसी भी प्रकार के हमले की कोशिश को नाकाम करने या हवा में किसी संदिग्ध वस्तु का पता लगाने के लिए ड्रोन रोधी प्रौद्योगिकी भी इस्तेमाल की जा रही है.

सुरक्षा बलों ने भीड़भाड़ वाले बाजारों, रेलवे स्टेशनों, बस अड्डों और अन्य महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों को संवेदनशील स्थानों के रूप में चिहि्नत किया है. उनकी सुरक्षा के लिए प्रयास किए जा रहे हैं. ट्रैफिक पुलिस ने मार्गों में परिवर्तन का प्रबंधन और आगंतुक गणमान्य लोगों की सुरक्षित यात्रा सुनिश्चित करने के लिए 3000 कर्मियों को तैनात किया है.

यातायात पुलिस के अधिकारियों ने शुक्रवार को बताया कि विजय चौक और लाल किला मैदान के बीच गणतंत्र दिवस परेड के सुचारू संचालन के लिए दिल्ली में यातायात के व्यापक प्रबंध किए गए हैं और पाबंदियां लगाई गई हैं.

गणतंत्र दिवस पर यात्रियों के लिए मेट्रो सेवा सभी स्टेशनों पर उपलब्ध रहेगी लेकिन सुबह पांच बजे से दोपहर 12 बजे तक केंद्रीय सचिवालय और उद्योग भवन स्टेशनों पर मेट्रो में चढ़ने-उतरने की अनुमति नहीं होगी.

यातायात पुलिस ने बताया कि परेड विजय चौक से सुबह नौ बजकर 50 मिनट पर शुरू होगी और राजपथ, तिलक मार्ग, बहादुर शाह जफर मार्ग, नेताजी सुभाष मार्ग से होकर लाल किला पहुंचेगी.

यातायात परामर्श के अनुसार 25 जनवरी को शाम छह बजे से लेकर परेड पूरी होने तक राजपथ पर विजय चौक से इंडिया गेट तक किसी वाहन को जाने की अनुमति नहीं दी जाएगी.

इसमें कहा गया है कि रफी मार्ग, जनपथ, मान सिंह रोड पर 25 जनवरी रात 11 बजे से परेड समाप्त होने तक आरपार यातायात की अनुमति नहीं होगी. 'सी'-हेक्सागन-इंडिया गेट पर 25 जनवरी को देर रात दो बजे से परेड के तिलक मार्ग पार करने तक यातायात बंद कर रहेगा.

संयुक्त पुलिस आयुक्त (यातायात) आलोक कुमार ने बताया कि 26 जनवरी को सुबह दस बजे से तिलक मार्ग, बहादुर शाह जफर मार्ग और सुभाष मार्ग पर दोनों तरफ से वाहनों को आने-जाने की अनुमति नहीं दी जाएगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi