S M L

वरिष्ठ कथाकार दूधनाथ सिंह का निधन, प्रोस्टेट कैंसर से थे पीड़ित

गुरुवार रात करीब 12.06 मिनट पर उन्होंने अंतिम सांस ली

FP Staff Updated On: Jan 12, 2018 10:00 AM IST

0
वरिष्ठ कथाकार दूधनाथ सिंह का निधन, प्रोस्टेट कैंसर से थे पीड़ित

हिंदी के वरिष्ठ कथाकार, कवि और आलोचक दूधनाथ सिंह का गुरुवार देर रात इलाहाबाद के एक प्राइवेट अस्पताल में निधन हो गया. वे 81 वर्ष के थे. उनके परिवार में दो बेटे और एक बेटी हैं.

दूधनाथ सिंह पिछले एक साल से प्रोस्टेट कैंसर से जूझ रहे थे. दिनोंदिन बिगड़ती तबीयत को देखते हुए उन्हें 4 जनवरी को इलाहाबाद के एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया था. गुरुवार रात करीब 12.06 मिनट पर उन्होंने अंतिम सांस ली.

साहित्य जगत में शोक

परिजनों के मुताबिक, अंतिम दर्शन के लिए उनका पार्थिव शरीर झूसी स्थित उनके घर पर लाया गया है. शुक्रवार को उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा. भारत भारती जैसे सम्मान से नवाजे गए दूधनाथ सिंह अपनी रचना के लिए हिंदी साहित्य में खास पहचान रखते थे. उनके निधन से साहित्य जगत में शोक की लहर है.

दूधनाथ सिंह ने इलाहाबाद यूनिवर्सिटी से हिंदी साहित्य में एमए की डिग्री ली थी. उसके बाद वे पढ़ाने के लिए कोलकाता चले गए. बाद में इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में ही पढ़ाने का काम करने लगे. वे 1994 में रिटायर हुए थे.

'और भी आदमी हैं' से मिली पहचान

आखिरी कलाम, निष्कासन, सपाट चेहरे वाला आदमी, माई का शोक गीत, धर्मक्षेत्र-कुरुक्षेत्र, निराला: आत्महंता आस्था, और भी आदमी हैं, सुरंग से लौटते हुए, महादेवी और भुवनेश्वर समग्र उनकी अहम रचनाएं थीं.

(फोटो साभार: न्यूज 18 )

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi