S M L

केरल के सभी जिलों में रेड अलर्ट खत्म, राहत अभियान में तेजी

राज्य में बारिश के प्रकोप के चलते करीब 3.53 लाख लोग बेघर हो गए हैं जो 3,026 राहत कैंप में रह रहे हैं

Updated On: Aug 19, 2018 11:57 AM IST

FP Staff

0
केरल के सभी जिलों में रेड अलर्ट खत्म, राहत अभियान में तेजी

केरल में हालात धीरे-धीरे सुधर रहे हैं. बाढ़ से जूझते इस प्रदेश में सरकार ने सभी जिलों के लिए घोषित रेड अलर्ट अब खत्म कर दिया है. हालांकि खतरे की कुछ आशंकाओं को देखते हुए 10 जिलों में ऑरेंज अलर्ट और 2 जिलों में येलो अलर्ट जारी किया गया है. प्रदेश के साथ-साथ केंद्रीय एजेंसियों ने राहत और बचाव कार्य तेज कर दिया है.

राज्य में बारिश के प्रकोप के चलते करीब 3.53 लाख लोग बेघर हो गए हैं जो 3,026 राहत कैंप में रह रहे हैं. अधिकारियों ने बताया कि 40,000 हेक्टेयर से अधिक क्षेत्र में फसलें बर्बाद हो गई हैं. उन्होंने बताया कि 1,000 से ज्यादा घर पूरी तरह बर्बाद हो गए हैं और करीब 26,000 घर आंशिक तौर पर बर्बाद हुए हैं.

अधिकारियों ने बताया कि 134 पुल और 16,000 किलोमीटर सड़कें पूरी तरह टूट गई हैं जिससे कुल 21,000 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है. कोच्चि में शनिवार को हुई एक उच्च स्तरीय बैठक में राज्य में बाढ़ की स्थिति की समीक्षा के लिए पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से मृतकों के परिजन को दो-दो लाख रुपए और बुरी तरह घायल लोगों को 50,000 रुपए की सहायता राशि देने की घोषणा की थी.

रविवार सुबह 10 बजे इडुक्की जलाशय में पानी का स्तर 2402.28 फुट दर्ज किया गया. उधर पेरियार नदी में प्रति घंटे 913 क्यूसेक्स पानी छोड़ा जा रहा है. बाढ़ का पानी और इलाकों में न फैले, इससे बचने के लिए इडुक्की बांध के दो शटर बंद कर दिए गए हैं.

रैपिड एक्शन फोर्स (आरएएफ) ने राहत और बचाव का काम तेज कर दिया है. रविवार सुबह पलक्कड़ जिले के नेमारा इलाके में एक शव बरामद किया गया. यहां भूस्खलन की बड़ी घटना हुई थी. आरएएफ कोयंबटूर यूनिट के डिप्टी कमांडर ने कहा, इस इलाके से अबतक 10 शव बरामद किए गए हैं. इधर भूस्खलन की घटनाएं अब भी हो रही हैं. शवों की बरामदगी में कठिनाई आ रही है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi