S M L

1 फरवरी से एटीएम से एक दिन में निकाल सकेंगे 24 हजार

रिजर्व बैंक ने सप्ताह में 24,000 रुपए निकालने की सीमा को बरकरार रखा है

FP Staff Updated On: Jan 31, 2017 10:28 AM IST

0
1 फरवरी से एटीएम से एक दिन में निकाल सकेंगे 24 हजार

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने एक फरवरी से एटीएम से कैश निकालने की लिमिट को हटाने का एलान किया है, जबकि हफ्ते की लिमिट बरकरार रहेगी. आरबीआई के नए गाइडलाइंस के मुताबिक अब एटीएम से एक दिन में 24 हजार तक की रकम निकाली जा सकती है. हालांकि एक हफ्ते में एटीएम से 24 हजार तक की रकम निकालने की लिमिट बरकरार रहेगी.

नए गाइडलाइंस के मुताबिक चालू खाते यानि करेंट एकाउंट वाले एटीएम से पैसे निकालने की लिमिट खत्म कर दी गई है.

इसके पहले सेविंग एकाउंट वाले एटीएम से एक दिन में 10 हजार की रकम ही निकाली जा सकती थी.16 जनवरी को भारतीय रिजर्व बैंक ने एटीएम से पैसे निकालने की सीमा प्रतिदिन 4500 रुपए से बढ़ाकर रोजाना 10,000 रुपए कर दिया था.

रिजर्व बैंक ने सप्ताह में 24,000 रुपए निकालने की सीमा को बरकरार रखा है. यानी बचत बैंक खातों से अब एक दिन में एटीएम से अधिकतम 24000 रुपये तक के रुपये निकाले जा रहे हैं.

ये भी पढ़ें : नोटबंदी से परेशान जनता

ATM LINE

नोटबंदी के दौरान बैंकों और एटीएम की लाइन में घंटों तक खड़े रहने को मजबूर रहे लोग

बचत खातों के लिए सीमा

यह सीमा केवल बचत खातों (सेविंग अकाउंट) को लेकर है. केंद्रीय बैंक ने इसके साथ ही वादा किया है कि प्रणाली में नकदी लौटने की गति को ध्यान में रखते हुए वह साप्ताहिक सीमा पर भी भविष्य में फिर से विचार करेगा.

हालांकि एटीएम से पैसा निकालने के लिए अलग-अलग बैंकों के अपने नियम लागू होंगे. कारोबारियों को राहत देते हुए आरबीआई ने करंट अकाउंट से कैश निकालने की लिमिट पूरी तरह से खत्म कर दी है.

ये भी पढ़ें: कैश लिमिट बढ़ाने से इंकार पर भड़का चुनाव आयोग

8 नवंबर को नोटबंदी के ऐलान के बाद एटीएम से कैश निकालने पर पाबंदी लगाई गई थी. जिसके तहत पहले 2 हजार रुपये निकालने की मंजूरी थी, फिर ढाई हाजार फिर एक जनवरी से ये सीमा 4500 रुपए की हुई.

पिछले दिनों आखिरी संशोधन में एटीएम से 10 हजार निकालने की मंजूरी दी गई.

लगभग तीन महीने पहले आठ नवंबर 2016 को आधी रात को पीएम मोदी ने जब नोटबंदी की घोषणा थी, उसके बाद से ही ट्रांजेक्शन पर लिमिट चली आ रही है.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
International Yoga Day 2018 पर सुनिए Natasha Noel की कविता, I Breathe

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi