S M L

स्याही खत्म होने से 200 और 500 के नोटों की छपाई बंद

हालांकि सरकार ने दावा किया कि स्थिति में तेजी से सुधार हो रहा है 2.2 लाख एटीएम में से 80 प्रतिशत काम करने लगे हैं

FP Staff Updated On: Apr 19, 2018 11:02 AM IST

0
स्याही खत्म होने से 200 और 500 के नोटों की छपाई बंद

स्याही खत्म होने से नासिक में नोट छपाई कारखाने में 200 रुपए और 500 रुपए के नोटों की छपाई में फिलहाल बंद है. एक मजदूर नेता ने बुधवार को यह दावा किया.

छापखाना कामगार परिसंघ के अध्यक्ष जगदीश गोडसे ने पीटीआई से कहा, ‘नोटों की छपाई में विदेश से मंगाई स्याही का इस्तेमाल होता है जो अभी नहीं है. इस कारण 200 रुपए और 500 रुपए के नोटों की छपाई रुक गई है.’ उन्होंने कहा कि देश भर में नकदी की कमी के पीछे यह भी एक कारण हो सकता है. हालांकि उन्होंने यह साफ नहीं किया कि नोटों की छपाई कब से बंद है.

यह टिप्पणी ऐसे वक्त आई है जब सरकार ने एक ही दिन पहले 500 रुपए के नोटों की छपाई पांच गुना बढ़ाने का आदेश दिया है ताकि अगले महीने 75 हजार करोड़ रुपए के नए नोटों की आपूर्ति की जा सके. कुछ राज्यों में चुनाव से पहले मांग में तेजी आने के कारण देश के कई हिस्सों में भी एटीएम खाली पड़े रहने की खबरें हैं.

बुधवार को उत्तर प्रदेश, बिहार, आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र और चुनाव की तैयारी में जुटे कर्नाटक के कई शहरों में एटीएम में नकदी नहीं रही या उनके खराब होने का बोर्ड टंगा मिला. इसके साथ ही यह नोटबंदी का दौर याद दिला गया. दिल्ली में भी कुछ एटीएम के काम नहीं करने की खबरें सामने आईं.

हालांकि सरकार ने अपनी ओर से दावा किया कि स्थिति में तेजी से सुधार हो रहा है और देश भर के 2.2 लाख एटीएम में से 80 प्रतिशत काम करने लगे हैं. दावे के मुताबिक बुधवार को महज 60 प्रतिशत एटीएम सही से काम कर रहे थे.

उधर गुरुवार को पटना में कुछ स्थानीय लोगों ने बताया कि नकदी की कमी एटीएम में बनी हुई है. एक व्यक्ति ने कहा, एटीएम से कैश नहीं निकलने के चलते हम अपना रोज का खर्चा नहीं चला पा रहे. हम काफी मुश्किल में हैं. कई एटीएम में घुमने के बाद किसी एक से पैसा मिलता है.

दूसरी ओर महाराष्ट्र में लोगों ने बताया कि उन्हें कैश की कोई कमी नहीं है. एटीएम से बाहर एक व्यक्ति ने कहा, एटीएम में कैश है. लेन-देन में कोई परेशानी नहीं है. सभी मशीन काम कर रही हैं.

नकदी की मांग में अचानक तेजी आने से यूपी, मध्य प्रदेश, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और कर्नाटक समेत कई अन्य राज्यों में एटीएम और बैंकों में कैश की कमी की समस्या का सामना करना पड़ रहा है. हालांकि सरकार और रिजर्व बैंक ने लोगों को भरोसा दिलाया कि ऐसी कोई समस्या नहीं है.

इससे पहले पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने बुधवार को कहा कि नोटबंदी का जिन्न सरकार को डराने के लिए फिर से लौट आया है. उन्होंने आरोप लगाया कि दो हजार रुपए के नोट जमाखोरों की मदद के लिए छापे गए थे. देश के कई हिस्सों में नकदी की समस्या के मद्देनजर उन्होंने कहा, इस बात का अंदेशा है कि बैंकों में घोटालों के कारण बैंकिंग सिस्टम से लोगों का भरोसा उठ चुका है और वे अपनी बचत बैंकों में नहीं रख रहे हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi