S M L

रेप मामलों में 5 लाख और एसिड अटैक में 7 लाख रुपए मुआवजा: सुप्रीम कोर्ट

अब तक अलग-अलग राज्य अपनी-अपनी तरह से मुआवजे की राशी तय करते थे. लकिन अब कोर्ट के आदेश के बाद अब मुआवजे की राशी एक समान हो जाएगा

Updated On: May 11, 2018 05:16 PM IST

FP Staff

0
रेप मामलों में 5 लाख और एसिड अटैक में 7 लाख रुपए मुआवजा: सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट ने रेप मामलों में महिलाओं को मुआवजा देने वाली स्कीम को मंजूरी दे दी है. कोर्ट ने शुक्रवार को अपना फैसला सुनाते हुए कहा कि रेप मामलों में पीड़िताओं को मुआवजे के तौर पर कम से कम पांच लाख रुपए दिए जाएंगे. वहीं एसिड अटैक के मामलों मे मुआवजा राशि सात लाख रुपए होगी.

इस रकम को नेशनल लीगल सर्विसेज अथॉरिटी (एनएलएसए) ने तय किया था. इसके लिए अथॉरिटी ने केंद्र सरकार से चर्चा भी की थी. इस चर्चा के बाद फैसला हुआ कि पीड़िताओं को कम से कम पांच लाख रुपए बतौर मुआवजा दिया जाए जिसे सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को मंजूरी दी. अथॉरिटी ने कोर्ट के कहने पर ही यह स्कीम तैयार की थी.

किस मामले में कितना मिलेगा मुआवजा

इस स्कीम के मुताबिक रेप, गैंगरेप और एसिड अटैक पीड़िताओं को कानूनी लड़ाई लड़ने के लिए आर्थिक सहायता उपलब्ध कराई जाएगी. रेप और अप्राकृतिक संबंधों के लिए कम से कम चार लाख रुपए मुआवजा दिया जाएगा. वहीं जान जाने पर कम से कम पांच लाख रुपए और अधिकतम 10 लाख रुपए दिए जाएंगे. वहीं किसी अंग के 80 प्रतिशत तक काम न करने पर 2 लाख रुपए मुआवजा दिया जाएगा.

यह स्कीम हर राज्य में लागू होगी. इसका मकसद रेप पीड़िताओ को मिलने वाले मुआवजे में समानता लाना है. अब तक अलग-अलग राज्य अपनी-अपनी तरह से मुआवजे की राशी तय करते थे. लकिन अब कोर्ट के आदेश के बाद अब मुआवजे की राशी एक समान हो जाएगा. इस स्कीम की कॉपी हर राज्य में एक हफ्ते के अंदर भेज दी जाएगी जिसके बाद सभी राज्यों को इसे लागू करना होगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi