S M L

कभी पीएम पद के दावेदार रहे नेता की अद्भुत प्रेम कहानी

80 के दशक में जब कांग्रेस केंद्र की सत्ता से बाहर थी और वीपी सिंह विपक्ष की राजनीति की धुरी बने, तब एक बार नहीं कई बार हेगड़े का नाम प्रधानमंत्री के दावेदारों के रूप में लगातार सामने आता रहा

Updated On: Jan 07, 2018 10:10 PM IST

FP Staff

0
कभी पीएम पद के दावेदार रहे नेता की अद्भुत प्रेम कहानी
Loading...

वो मिस्टर क्लीन कहे जाते थे. 80 के दशक के आखिर में प्रधानमंत्री पद के मजबूत दावेदारों में एक. सुसंस्कृतिक, मृदुभाषी और विनम्र. लेकिन एक लव अफेयर इस कदर डूबे कि उनके साथी हैरान रह गए. परिवार से रिश्ते भी तनावपूर्ण हो गए, लेकिन उन पर इसका कोई असर नहीं पड़ा. रामकृष्ण हेगड़े की प्रेम कहानी को किस तरह पारिभाषित किया जाए, कहना मुश्किल है.

लंबी बीमारी के बाद 12 जनवरी 2004 को रामकृष्ण हेगड़े का निधन हो गया. वह ऐसे राजनीतिज्ञ थे, जिनकी हर कोई तारीफ करता था. 80 के दशक में जब कांग्रेस केंद्र की सत्ता से बाहर थी और वीपी सिंह विपक्ष की राजनीति की धुरी बने, तब एक बार नहीं कई बार हेगड़े का नाम प्रधानमंत्री के दावेदारों के रूप में लगातार सामने आता रहा. हालांकि तब वह बहुत नाराज और निराश हुए जब उनकी अनदेखी करके विपक्षी दलों ने एचडी देवगौड़ा को प्रधानमंत्री बना दिया. लेकिन इसमें कोई शक नहीं कि वह योग्य और साफ-सुथरे राजनीतिज्ञ थे.

चाहे कर्नाटक में मुख्यमंत्री के रूप में उनके काम को देखें या फिर बाद में केंद्र सरकारों में मंत्री के रूप में उनकी कार्यक्षमता की हर कोई उनका मुरीद था. हालांकि वह टेलीफोन टेप कांड से विवाद में भी आए, लेकिन कौन सोच सकता था कि प्रेम की ऊंची नीची पगडंडियों पर कभी वो भी फिसलेंगे और फिसलेंगे कि एक नया फसाना ही गढ़ लेंगे.

वह महिला कौन थी

13 जनवरी 2004 को जब उनका अंतिम संस्कार बेंगलुरु में हो रहा था तो साथ में एक अलग ही विवाद एक नई तस्वीर बना रहा था. एक महिला लगातार उनके अंतिम संस्कार में पहुंचने की कोशिश कर रही थी, लेकिन उसे वहां से बाहर कर दिया गया. अपने साथ इस बर्ताव से खिन्न और नाराज प्रसिद्ध नृत्यांगना प्रतिभा प्रह्लाद मीडिया से मुखातिब हुईं और उन्होंने रामकृष्ण हेगड़े के साथ लंबे समय तक चले अपने रिलेशनशिप को सार्वजनिक कर दिया. प्रतिभा उस समय दो जुड़वां बच्चों की मां थीं. उन्होंने कहा कि इन बच्चों के पिता अन्ना रामकृष्ण थे. बाद में इन बच्चों को पिता के रूप में रामकृष्ण का नाम भी मिला.

प्रतिभा ने तब मीडिया से कहा, अंतिम संस्कार में हिस्सा लेने से मुझे रोक दिया गया. हमारे रिश्ते कभी सीक्रेट नहीं थे. हां, मैने इससे पहले कभी इस बारे में नहीं बोला, क्योंकि इसकी जरूरत ही नहीं थी. मैं उनकी पॉलिटिकल स्थिति खराब नहीं करना चाहती थी. वह हमेशा मुझे चाहते थे.

आरके हेगड़े और अपने बच्चों के के साथ प्रतिभा प्रह्लाद (तस्वीरः न्यूज18 हिंदी)

आरके हेगड़े और अपने बच्चों के के साथ प्रतिभा प्रह्लाद (तस्वीरः न्यूज18 हिंदी)

कम उम्र में हो गई थी शादी

अब जरा रामकृष्ण हेगडे के पारिवारिक जीवन की लौटते हैं. उनकी पृष्ठभूमि किसान परिवार की थी. वह बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में कानून की पढ़ाई करने आए और फिर भारत के आजादी आंदोलन में कूद पड़े. जेल भी गए. युवा उम्र में ही शकुंतला से उनकी शादी हुई, जो उन्हीं की तरह ब्राह्मण समुदाय से थीं. ये शादी हमेशा टिकी रही, हां बाद के बरसों में शकुंतला के लिए अपनी पति की जिंदगी में दूसरी महिला का प्रवेश काफी आघात देने वाला रहा. हेगड़े और शकुंतला की दो बेटियां और एक बेटा था. शकुंतला पारंपरिक महिला थीं. आमतौर पर वह राजनीति से परे चुपचाप घर में रहना पसंद करती थीं. अभी वह अपनी दो बेटियों के साथ बंगलुरु में रह रही हैं.

'मैं युवा थी और कुछ नर्वस भी'

अब दूसरी कहानी पर आते हैं. मीडिया में छपी रिपोर्ट्स और प्रतिभा के कई इंटरव्यू के अनुसार उन्होंने अपने और हेगड़े को यूं बयां किया, उनसे मेरा मिलना एक भाग्य की तरह था. जब मैं 22 साल की थी, तब उनसे मिली. वह संवेदनशील थे. ये पहली नजर का प्यार नहीं था. लेकिन उन्होंने मुझमें दिलचस्पी दिखाई और प्रोपोज़ किया. जब 1988 में उन्होंने मुझको दिल्ली में परफार्म करने बुलाया, तब मैं वहां गई. इसके साथ ही हमारी 15 साल तक चलने वाली रिलेशनशिप भी शुरू हुई. मैं युवा होने कारण कुछ डरी और नर्वस थी.

वह रोज मुझे 15 बार याद करते थे

उनके लिए रामकृष्ण हेगड़े आरके थे. वह उन्हें इसी रूप में संबोधित करती रहीं. बकौल प्रतिभा, ‘आरके ने मुझसे कहा, उनकी जिंदगी में कई महिलाएं रही हैं. लेकिन मैं उनसे भावनात्मक रूप से जुड़ी. मैं उनके साथ सुरक्षित महसूस करती थी. खुश भी. दिन में वह मुझको 15 बार याद करते थे. मेरा सम्मान करते थे. मैने उन्हें अपनी जिंदगी सौंप दी. उन्होंने पूरी तरह मेरी मदद की. दूसरी शादी कानूनी तौर पर मान्य नहीं होती, लिहाजा हमने इस बारे में सोचा भी नहीं. उम्र में वह मुझसे 35 साल बड़े थे. हालांकि हमारे इस संबंध पर मेरे परिवार ने भी एतराज किया. लेकिन मैं अपने कदम पर टिकी रही. हालांकि खुद ये मेरे लिए थोड़ा हैरान करने वाला था, क्योंकि अलग तरह की महिला थी.’ वह बड़े लीडर थे और मैं अपनी फील्ड में बड़ी हूं

हालांकि रामकृष्ण हेगड़े से जुड़े दिल्ली के उनके करीबी नेता कहते हैं कि हेगड़े ने फिरोजशाह रोड स्थित एक अपार्टमेंट में प्रतिभा के लिए फ्लैट की व्यवस्था की. यहीं वो प्रतिभा के साथ रहे. वह हर साल दिल्ली में एक बड़ा सांस्कृतिक प्रोग्राम भी कराती आ रही हैं. जब उनसे फोन पर बात करने की कोशिश की गई, तो उन्होंने कहा, मैं इस पर कुछ बोलना नहीं चाहती, न शेयर करना चाहती क्योंकि मुझको नहीं लगता कि इस समय ये बात करने का कोई मतलब है. वह बहुत बड़े लीडर थे और मैं भी अपनी फील्ड में बड़ी हूं.

इस मसले पर कोई वैल्यू एडीशन नहीं दूंगी

प्रतिभा कहती हैं, ‘ऐसा भी नहीं है कि मैंने उनसे संबंधों को लेकर कोई चुप्पी रखी है, मैंने बोला भी है लेकिन फिलहाल ये बात अब मेरे लिए मायने नहीं रखती. टेलीफोन पर बातचीत में उनका कहना था, क्या बोलूं, अगर कर्नाटक की राजनीति के बारे में बोलेंगे या फिर यूथ या कल्चर या मेरे फील्ड के बारे में, तो मैं बात कर सकती हूं. कर्नाटक की राजनीति को मैंने काफी करीब से देखा है. लेकिन अगर आपको व्यक्तिगत जिंदगी पर बात करनी है तो फिलहाल मुझको इस मसले पर कोई वैल्यू एड नहीं करना है.’

रामकृष्ण हेगड़े की पहली पत्नी शकुंतला (तस्वीरः न्यूज18 हिंदी)

रामकृष्ण हेगड़े की पहली पत्नी शकुंतला (तस्वीरः न्यूज18 हिंदी)

पहली पत्नी अब भी पति की यादों के साथ जीती हैं

रामकृष्ण हेगड़े को आज भी लोग याद करते हैं. खासकर ऐसे संजीदा राजनीतिज्ञ के रूप में, जिन्हें वो मौका नहीं मिल सका, जिसके वह हकदार थे. उनके विरोधी भी उनका सम्मान करते रहे हैं. वर्ष 2001 के बाद वह अपनी बीमारी की वजह से राजनीति से परे हो गए. उनका लंबा इलाज चला, लेकिन वह इससे उबर नहीं पाए. उनकी पहली पत्नी शकुंतला को अब भी हेगड़े के परिचित सुरुचिपूर्ण और सुंदर महिला के तौर पर याद करते हैं. उन्होंने पाक कला पर भी शानदार काम किया है. वह बंगलुरु में कृतिका नाम के अपने बंगले में रहती हैं. पति की यादें अब भी उनके लिए काफी मायने रखती हैं.

(न्यूज18 हिंदी के लिए संजय श्रीवास्तव की रिपोर्ट)

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi