S M L

राज्यसभा टीवी चैनल के सीईओ गुरदीप सिंह सप्पल का इस्तीफा

सप्पल ने जुलाई में ही इस्तीफा दे दिया था, तबसे वो नोटिस पीरियड पर थे.

Updated On: Aug 12, 2017 12:04 PM IST

FP Staff

0
राज्यसभा टीवी चैनल के सीईओ गुरदीप सिंह सप्पल का इस्तीफा

सरकारी टीवी चैनल राज्यसभा टीवी के सीईओ गुरदीप सिंह सप्पल ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. वो एक महीने से नोटिस पीरियड पर थे, उन्होंने जुलाई में ही इस्तीफा दे दिया था, अब उनका इस्तीफा स्वीकार कर लिया गया है.

सप्पल का ये इस्तीफा उन विवादों के बाद आया है, जो राज्यसभा की पहली व्यावसायिक फिल्म रागदेश के प्रमोशन में हुए खर्चे को लेकर शुरू हुई थीं. उनके काम-काज पर सवाल भी उठाया जा रहा था.

सप्पल ने अपना इस्तीफा स्वीकार होने के बाद एक लंबा सा फेसबुक पोस्ट लिखा है. इस पोस्ट में उन्होंने लिखा है कि मैं शुक्रगुजार हूं माननीय उपराष्ट्रपति श्री वेंकैय्या नायडू जी का, जिन्होंने मेरा आग्रह मानकर मेरा इस्तीफा स्वीकार किया.

पोस्ट में उन्होंने इस शेर के साथ अपने बात की शुरुआत की है.

'चलो कि इक उम्र तमाम हुई

उठो कि महफ़िल की शाम हुई

जुड़ेंगे नए रिंद, अब नए साज़ सजेंगे

मिलेंगे उस पार, कि नए ख़्वाब बुनेंगे.'

सप्पल ने अपने 6 साल के इस सफर को याद करते हुए लिखा है कि उन्होंने जिस मोटो के साथ आरएसटीवी की शुरुआत की थी, वो उसमें सफल हुए हैं.

उन्होंने आगे लिखा है कि लोग संस्था को गढ़ते हैं और संस्था लोगों को गढ़ती है. मैं चैनल के अपने सभी साथियों का धन्यवाद करता हूं, जिन्होंने मेरे साथ मिल कर ये चैनल गढ़ा और उसे ऊंचाइयों तक पहुंचाया.

ये भी पढ़ें: हम बैलगाड़ी से चल कर तो फिल्म का प्रोमोशन नहीं करेंगे : गुरदीप सप्पल

हालांकि, ये गौर करने वाली बात है कि सप्पल का इस्तीफा उस वक्त आया है, जब पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी का कार्यकाल खत्म हो चुका है और वैंकेया नायडू ने पद की शपथ ली है.

सप्पल 2011 में राज्यसभा टीवी के बनने के बाद से ही सप्पल इस चैनल के सीईओ थे.

शुक्रवार को ही सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन के अध्यक्ष पहलाज निहलानी को उनके पद से हटा दिया गया है. उनकी जगह गीतकार और एड गुरु प्रसून जोशी को सेंसर बोर्ड का अध्यक्ष बनाया गया है.

ये भी पढ़ें: फिल्म 'राग देश' के प्रोमोशन पर उठ रहे हैं सवाल!

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi