S M L

राजसमंद: शंभूलाल चरित्रहीन है, 'लव-जेहाद' की आड़ में की हत्या

पुलिस ने रैगर को चरित्रहीन व्यक्ति भी बताया है. क्योंकि उसके एक अन्य महिला, जोकि नर्स है, उससे भी नाजायज संबंध थे

Updated On: Jan 16, 2018 03:55 PM IST

Subhesh Sharma

0
राजसमंद: शंभूलाल चरित्रहीन है, 'लव-जेहाद' की आड़ में की हत्या

राजस्थान के राजसमंद में हाल ही में हुए कथित लव-जेहाद मामले में अब एक नया खुलासा हुआ है. इंडियन एक्सप्रेस में  छपी खबर के मुताबिक, पिछले साल आरोपी शंभूलाल रैगर ने एक महिला को बताया था कि ये उसकी आखिरी दिवाली होगी.

राजस्थान पुलिस की चार्जशीट के मुताबिक, रैगर के इस महिला के साथ नाजायज संबंध भी थे. रैगर ने कहा था कि ये मेरी आखिरी दिवाली है. अब मैं यहां कभी नहीं आऊंगा. मेरा एक लक्ष्य है, मैं वो पूरा करने जा रहा हूं. शायद वापस जिंदा वापस नहीं आ पाऊंगा. रैगर ने ये बात राजसमंद में ही काम कर रहे एक लेबर मोहम्मद अफराजुल की हत्या करने से दो महीने पहले कही थी.

अफराजुल को मारने की तैयारी पहले से ही कर ली थी

चार्जशीट के मुताबिक, रैगर ने अफराजुल को मारने की तैयारी पहले से ही कर ली थी. वो मर्डर करने से करीब पांच महीने पहले ही हथियार ले आया था और उसने एक लुहार को हथियार धारदार बनाने को दिया था. साथ ही उसने अपने 15 साल के भतीजे को भी ट्रेनिंग दी थी. ताकि वो इस खौफनाक हत्या का वीडियो बिना घबराए बना सके. चार्जशीट मं कहा गया कि रैगर अपने भतीजे के दिल को मजबूत करने के लिए उससे जिंदा मुर्गे कटवाता था.

पुलिस ने रैगर को चरित्रहीन व्यक्ति भी बताया है. क्योंकि उसके एक अन्य महिला नर्स से भी नाजायज संबंध थे. चार्जशीट के मुताबिक, इससे यह स्पष्ट है कि शंभूलाल चरित्रहीन प्रवृति का रहा है, जिसके.... (महिला का नाम) के अलावा .... (नर्स) से भी नाजायज संबंध थे. इनमें से पहली महिला अफराजुल की ही तरह बंगाल के रहने वाले लेबर बल्लू शेख के साथ भाग गई थी. पर जब वो वापस राजसमंद आई तो रैगर ने उसे भी अपने घर में रखा, जहां पहले से नर्स भी रह रही थी. यानी शंभूलाल अपने घर में दो गर्लफ्रेंड के साथ रह रहा था.

चार्जशीट की माने तो रैगर अक्सर बल्लू शेख और उसके दोस्त अज्जू शेख से फोन पर झगड़ा करता था. जो महिला बल्लू शेख के साथ भाग गई थी उसने कहा कि वो शेख से 2010 में मिली थी. तब वो उसके घर शराब पीने और मीट खाने आते था. वहीं नर्स ने एक बार महिला और रैगर को एक साथ देख लिया था, जिसके बाद से तीनों के विवाद पैदा हुआ था.

इस वजह से बनाया अफराजुल को निशाना

चार्जशीट में कहा गया है कि ...(महिला का नाम) ने उसे और शंभूलाल रैगर को आपत्तिजनक हालात में देख लिया था. इस बात पर शंभूलाल और नर्स का जोरदार झगड़ा भी हुआ था. पुलिस ने बताया कि पहली महिला दोस्त की मां उसे रैगर के घर से लेने भी गई. लेकिन उसने फिर भी उस महिला को जाने नहीं दिया. चार्जशीट के मुताबिक, शंभूलाल के घर से अपनी बेटी को वापस लाने के लिए उसकी मां ने समाज की पंचायत भी बुलाई थी. समाज के लोगों ने शंभूलाल रैगर पर 10 हजार का दंड लगाया और महिला को छोड़ने को कहा.

चार्जशीट के मुताबिक मोहम्मद अफराजुल को इसलिए निशाना बनाया गया, क्योंकि वो बंगाल से आने वाले कई प्रवासी मजदूरों की मदद करता था. रैगर ने सोचा कि अगर वो अफराजुल की हत्या कर देगा, तो इससे बंगाली मजदूर राजसमंद आने से डरने लगेंगे.

इससे पहले पुलिस जांच में सामने आया था कि आरोपी शंभूलाल रैगर ने अफराजुल की गलती से हत्या कर दी थी. हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, शंभूलाल किसी अन्य व्यक्ति को मारना चाहता था. लेकिन गलती से उसने 48 साल के अफराजुल की हत्या कर दी थी.

पूछताछ के दौरान शंभूलाल ने पुलिस को बताया था कि मोहम्मद अफराजुल उसका निशाना नहीं था. राजसमंद के सीओ राजेंद्र सिंह ने बताया कि वो अज्जू शेख नाम के किसी व्यक्ति को मारना चाहता था. क्योंकि शंभूलाल जिस लड़की को बहन मानता था, अज्जू शेख उसके संपर्क में था. लेकिन हमे लगता है कि शंभूलाल का उस लड़की के साथ अफेयर था. अज्जू भी अफराजुल की तरह पश्चिम बंगाल के मालदा का रहने वाला है और राजसमंद में लेबर के तौर पर काम कर रहा है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi