S M L

पद्मावती को लेकर गुजरात में राजपूत समाज का 'घमासान'

गुजरात के अलग-अलग हिस्सों में राजपूत समाज और करणी सेना ने रैली और विरोध-प्रदर्शन कर फिल्म की रिलीज रोकने की मांग की

Bhasha Updated On: Nov 12, 2017 09:43 PM IST

0
पद्मावती को लेकर गुजरात में राजपूत समाज का 'घमासान'

करणी सेना के नेतृत्व में राजपूत समाज ने गुजरात के अलग-अलग शहरों में फिल्म पद्मावती का व्यापक विरोध-प्रदर्शन किया है. उन्होंने फिल्म में ऐतिहासिक तथ्यों से छेड़छाड़ करने का आरोप लगाते हुए इसकी रिलीज पर रोक लगाने की मांग की है.

रविवार को राजपूत समाज के एक लाख से ज्यादा लोग गांधीनगर में एक व्यापक सभा में जमा हुए. वहीं हजारों लोगों ने इसके खिलाफ सूरत में विरोध रैली निकाली. उन्होंने संजय लीला भंसाली द्वारा निर्देशित फिल्म की रिलीज पर रोक लगाने की मांग की.

दीपिका पादुकोण, शाहिद कपूर और रणवीर सिंह अभिनीत यह फिल्म 1 दिसंबर को रिलीज हो रही है.

करणी सेना की गुजरात इकाई के प्रमुख मानसिंह राठौड़ के अनुसार भंसाली ने ‘फिल्म में ऐतिहासिक तथ्यों से छेड़छाड़ की है’. उन्होंने कहा, ‘हमें पता चला है कि फिल्म में सपने का एक दृश्य है जिसमें रानी पद्मावती को अलाउद्दीन खिलजी के साथ रोमांस करते हुए दिखाया गया है. हम अपनी रानी को इस तरह जघन्य रूप में दिखाने की निंदा करते हैं. करणी सेना इस तरह की फिल्म को कभी भी सिनेमाघर में पहुंचने नहीं देगी.’

राठौड़ ने कहा कि न केवल गुजरात बल्कि देश में कही भी यह फिल्म रिलीज नहीं होनी चाहिए. उन्होंने कहा, ‘अपनी मांगें उठाने के लिए करणी सेना और दूसरे राजपूत, हिंदू संगठनों ने गांधीनगर में एक सभा बुलाई है. हमने सूरत में भी एक विरोध प्रदर्शन आयोजित किया. हम साफ साफ चेतावनी देते हैं कि अगर फिल्म रिलीज हुई तो हिंसक प्रदर्शन होंगे. ऐसे में बिगड़े कानून-व्यवस्था के लिए सरकार जिम्मेदार होगी.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
International Yoga Day 2018 पर सुनिए Natasha Noel की कविता, I Breathe

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi