S M L

अगस्ता वेस्टलैंड: राजीव सक्सेना को 18 फरवरी तक न्यायिक हिरासत में भेजा, कोर्ट ने मांगी मेडिकल रिपोर्ट

इसी मामले में दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में क्रिश्चियन मिशेल की जमानत याचिका पर भी सुनवाई हुई, सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय ने अपने-अपने जवाब दाखिल किए

Updated On: Feb 12, 2019 03:47 PM IST

FP Staff

0
अगस्ता वेस्टलैंड: राजीव सक्सेना को 18 फरवरी तक न्यायिक हिरासत में भेजा, कोर्ट ने मांगी मेडिकल रिपोर्ट

अगस्ता वेस्टलैंड मामले में दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने आज सुनवाई करते हुए सह-आरोपी राजीव सक्सेना को 18 फरवरी तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. सिर्फ इतना ही नहीं कोर्ट ने कल तक एम्स से राजीव सक्सेना की नई मेडिकल रिपोर्ट भी मांगी है. इसके अलावा इसी मामले में दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में क्रिश्चियन मिशेल की जमानत याचिका पर भी सुनवाई हुई. सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय ने पटियाला हाउस कोर्ट में अपने-अपने जवाब दाखिल किए. दोनों जांच एजेंसियों ने मिशेल की याचिका का कड़ा विरोध किया और कहा है कि उसकी याचिका खारिज की जानी चाहिए. इस मामले की अगली सुनवाई कल यानी 13 फरवरी को होगी.

राजीव सक्सेना को दुबई के पुलिस अधिकारियों ने पकड़ा था

बता दें कि इससे पहले राजीव सक्सेना को दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट ने ईडी रिमांड पर भेज दिया था. राजीव सक्सेना और दीपक तलवार दोनों को दुबई के पुलिस अधिकारियों ने पकड़ा था. दिल्ली लाने के बाद से ही दोनों आरोपी ईडी की कस्टडी में थे. वहीं राजीव सक्सेना की वकील गीता लुथरा ने कहा था कि जिस तरीके से सक्सेना को भारत लाया गया वो गैरकानूनी है. क्योंकि यह तरीका ही गैर-कानूनी है तो रिमांड का अनुरोध स्वचालित रूप से गलत हो जाता है. तलवार की वापसी भी महत्वपूर्ण है क्योंकि उन्होंने विमानन क्षेत्र में यूपीए के तहत विवादास्पद सौदों में अहम रोल निभाया है. उदाहरण के तौर पर विदेशी एयरलाइंस के लिए मंजूरी और इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के पास एरोसिटी परियोजना का विकास. एयरपोर्ट पर ड्यूटी-फ्री दुकानों को मिले पुरस्कारों को भी सौदों के हिस्से के रूप में देखा गया था.

चेन्नई हवाई अड्डे से पत्नी शिवानी सक्सेना को गिरफ्तार किया गया था

वहीं दिल्ली के सबसे प्रमुख लॉबीस्ट में से एक, तलवार 1990 के दशक से बिजनेस के साथ जुड़े हैं. जब नरसिम्हा राव सरकार ने उदारीकरण की प्रक्रिया शुरू की थी तब वह विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड की मंजूरी के लिए आगे आए थे. ईडी ने दुबई में रहने वाले राजीव सक्सेना को इस मामले में कई बार तलब किया था और 2017 में चेन्नई हवाई अड्डे से उसकी पत्नी शिवानी सक्सेना को पूछताछ के लिए गिरफ्तार भी किया था. बाद में उन्हें जमानत मिल गई थी. ईडी का आरोप है कि सक्सेना, उसकी पत्नी और दुबई स्थित उसकी दो फर्मों ने धन शोधन किया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi