S M L

राजस्थान: मजदूरों पर हो रहा था बिना नाम की दवाई का टेस्ट, होगी जांच

दिहाड़ी मजदूरों को खाना हजम करने के नाम पर एक परीक्षण वाली दवा खिलाने का मामला सामने आया है

Updated On: Apr 21, 2018 08:26 PM IST

Bhasha

0
राजस्थान: मजदूरों पर हो रहा था बिना नाम की दवाई का टेस्ट, होगी जांच

राजस्थान के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री काली चरण सराफ ने जयपुर के एक निजी अस्पताल में नई दवाई का प्रयोग दिहाडी मजदूरों पर करने के मामले की जांच के निर्देश दिए हैं. सराफ के निर्देश पर जांच शुरू हो गई है.

सराफ ने आज बताया कि यह मामला सामने आने के बाद प्रमुख शासन सचिव वीनू गुप्ता को इस मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं. जांच रिपोर्ट के आधार पर अगली कार्रवाई की जाएगी. सरकार ने चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त निदेशक डॉ. रवि प्रकाश की अध्यक्षता में एक जांच कमेटी का गठन किया है.कमेटी ने जांच आरंभ कर दी है.

डॉ. प्रकाश ने बताया कि जयपुर के एक निजी असपताल में गत दिनों 24 दिहाडी मजदूरों पर नई दवाई का उपयोग करने के मामले की जांच के लिए आज अस्पताल गये थे. अस्पताल में दिहाडी श्रमिक जिन पर नई दवाई का उपयोग करने की बात कही जा रही है, नहीं मिले और न ही अस्पताल के चिकित्सक मिले.

उन्होंने कहा कि अस्पताल प्रबंधन को सभी दस्तावेज लेकर बुलाया गया है. उन्होंने कहा कि सम्बंधित चिकित्सक से पूछताछ होने और दस्तावेजों की जांच के बाद ही इस बारे में कुछ कहना संभव होगा.

गौरतलब है कि गत 19 अप्रैल को एक निजी अस्पताल में 24 दिहाडी मजदूरों पर नई दवाई का प्रयोग करने का मामला सामने आया है.मजदूरों को एक ठेकेदार लेकर आया था ओर सभी श्रमिकों को खाना हजम होने की दवाई बता कर उन्हें दवा खाने को दी गई थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi