S M L

राजस्थान: खुद था बेरोजगार, लेकिन दूसरों को दे रहा था 'नकली' नौकरियां

राजस्थान में कुछ युवकों ने बाकायदा एक वेबसाइट बनाई और लोगों को नौकरी का वादा देकर उनसे पैसे भी ऐंठे

Updated On: Nov 02, 2018 12:11 PM IST

FP Staff

0
राजस्थान: खुद था बेरोजगार, लेकिन दूसरों को दे रहा था 'नकली' नौकरियां
Loading...

राजस्थान में जब एक शख्स अपनी बेरोजगारी से तंग आ गया तो उसने दूसरों को नौकरियां देने की ठानी. बात बस इतनी थी कि उसके पास देने के लिए कोई नौकरी नहीं थी और वो नकली नौकरियां बांट रहा था. पुलिस ने इस गैंग पर दबिश देकर इसके मास्टरमाइंड को गिरफ्तार कर लिया है.

न्यूज18 की रिपोर्ट के मुताबिक, राजस्थान में कुछ युवकों ने बाकायदा एक वेबसाइट बनाई और लोगों को नौकरी का वादा देकर उनसे पैसे भी ऐंठे. खुशी मोहम्मद नाम के इस शख्स ने अपने इस प्लान में और भी कई लोगों को शामिल किया और काफी लंबा चौड़ा हाथ मारा.

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, 12वीं तक पढ़े इस आरोपी ने कृषि मंत्रालय से जोड़ते हुए अपनी एक वेबसाइट http://www.panditdeendayalkarsivikas.com बनाई. इस वेबसाइट पर वो कृषि मंत्रालय के अधीन होने का दावा करते थे. इसपर मंत्रालय से जारी की जाने वाले जॉब एप्लीकेशन और रिक्रूटमेंट प्रॉसेस से जुड़ी जानकारियां शेयर करते थे. उन्होंने इसके लिए एक वेबसाइट डिजाइनर तक को हायर किया हुआ था.

उन्होंने इसके लिए पहले पंडित दीन दयाल एग्रीकल्चर डेवलपमेंट रिसर्च काउंसिल ऑफ इंडिया से जुड़ी जानकारी जुटाई, जिसके जरिए उन्होंने वेबसाइट बनाई. इसके बाद उन्होंने जॉब ढूंढने वालों को एनरोल करना शुरू किया. एनरोलमेंट के नाम पर वो उनसे फीस लेते थे.

उन्होंने खुद को एनजीओ बताने वाले फर्जी डॉक्यूमेंट भी तैयार कर लिए थे. इसी की मदद से उन्हें एक बैंक अकाउंट भी खुलवा लिया था. इतना ही नहीं वो एक फेक कॉल सेंटर भी चलाते थे, जिसमें उन्होंने कुछ युवाओं को नौकरी दे रखी थी, ताकि वो जॉब ढूंढ रहे लोगों की इन्क्वायरी का जवाब दे सकें. इसके लिए उन्होंने फर्जी आईडी पर कई सारे सिम ले रखे थे.

इसके अलावा वो फर्जी दस्तावेज भी बनवाते थे. वो फर्जी पैन कार्ड, सरकारी संस्थाओं और सरकारी कार्यक्रमों के फर्जी सर्टिफिकेट बनवाते थे.

पुलिस को इस सबका पता चला, जब उनके पास पंडित दीन दयाल एग्रीकल्चर डेवलपमेंट रिसर्च काउंसिल ऑफ इंडिया के नाम पर चल रहे फेक जॉब रिक्रूटमेंट की शिकायत दर्ज कराई गई.

पुलिस ने इस गैंग पर छापा मारा और इसके मास्टर माइंड खुसी मोहम्मद और उसके मुख्य सहयोगी अमित यादव को गिरफ्तार कर लिया.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi