S M L

रायपुरः बीजेपी नेताओं से हेलमेट पहनकर क्यों मिल रहे हैं पत्रकार?

एक कवरेज के दौरान पत्रकार सुमन पांडेय के साथ मारपीट की गई, इस मामले में पुलिस ने रायपुर बीजेपी प्रमुख राजीव अग्रवाल और तीन पार्टी पदाधिकारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी

Updated On: Feb 07, 2019 11:10 AM IST

FP Staff

0
रायपुरः बीजेपी नेताओं से हेलमेट पहनकर क्यों मिल रहे हैं पत्रकार?

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में पिछले कुछ समय से पत्रकार बीजेपी की कवरेज के दौरान हेलमेट पहने नजर आ रहे हैं. ऐसा ही कुछ नजारा बीते मंगलवार को शहर में दिखा जब नगर निगम रायपुर में बीजेपी पार्षदों के प्रदर्शन को कुछ पत्रकारों ने हेलमेट पहनकर कवर किया. एनडीटीवी के अनुसार यह विरोध बीते 02 फरवरी की घटना को लेकर है. बता दें कि उस दिन बीजेपी के प्रदेश कार्यालय एकात्म परिसर में बैठक आयोजित की गई थी.

पत्रकार सुमन पांडेय के साथ मारपीट की गई

इसके कवरेज के दौरान एक पत्रकार सुमन पांडेय के साथ मारपीट की गई. इस मामले में पुलिस ने रायपुर बीजेपी प्रमुख राजीव अग्रवाल और तीन पार्टी पदाधिकारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी. सुमन पांडेय ने कहा- मैं अपने मोबाइल फोन पर बैठक का एक वीडियो रिकॉर्ड कर रहा था जब अचानक बीजेपी नेताओं ने किसी मुद्दे पर आपस में बहस शुरू कर दी. राजीव अग्रवाल और एक अन्य व्यक्ति उत्कर्ष त्रिवेदी ने मुझे हाथापाई के वीडियो को हटाने के लिए कहा, जिसे मैंने अस्वीकार कर दिया.

पत्रकारों ने पांडे की पिटाई करने वालों की गिरफ्तारी को लेकर धरना दिया

उन्होंने फिर मुझे मारना शुरू कर दिया और जबरदस्ती वीडियो डिलीट कर दिया. सुमन पांडेय ने कहा- मुझे बैठक कक्ष के अंदर लगभग 20 मिनट के लिए बैठाया गया था. जब मैं बाहर आया तो मैंने अन्य पत्रकारों को इस घटना के बारे में बताया. बाद में बीजेपी कार्यालय में कई और पत्रकार पहुंचे और उन्होंने पुलिस को इस बारे में सूचित किया. पत्रकारों ने पांडे की पिटाई करने वालों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर धरना दिया.

पार्टी ने सुमन पांडे से माफी मांगी है

बैठक में मौजूद छत्तीसगढ़ बीजेपी के प्रवक्ता सच्चिदानंद उपासने ने कहा कि पार्टी ने पांडे से माफी मांगी है. यह विधानसभा चुनावों में हार पर चर्चा करने के लिए एक बंद दरवाजे की बैठक थी. फुटेज में साफ देखा गया है कि पत्रकारों को प्रारंभिक बैठक के बाद बैठक कमरा छोड़ने के लिए कहा गया था. मोबाइल बंद रखने के लिए भी कहा गया था. पत्रकारों का दल आरोपियों को पार्टी से निलंबित करने की मांग कर रहा है. इसके तहत बीते शनिवार देर रात तक बीजेपी के प्रदेश कार्यालय के बाहर पत्रकारों ने धरना भी दिया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi