विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

चोरों का गढ़ बन गई है रेलवे, एक साल में 11 लाख चोर पकड़े

आपको ये जानकर हैरानी होगी कि 2016 में 11 लाख लोगों ने रेलवे में चोरी की है

FP Staff Updated On: Dec 08, 2017 09:44 AM IST

0
चोरों का गढ़ बन गई है रेलवे, एक साल में 11 लाख चोर पकड़े

ट्रेन में सामान चोरी होना बड़ी आम सी बात है. लेकिन आपको ये जानकर हैरानी होगी कि 2016 में 11 लाख लोगों ने रेलवे में चोरी की है. चोरों ने तौलिए, कंबल, चादर, पानी का नल तक नहीं छोड़ा है.

रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स के लिए 2016 काफी मेहनत भरा साल रहा. आरपीएफ ने देश भर में रेलवे ट्रैक और ट्रेनों से सामान चोरी करने को लेकर 11 लाख लोगों को गिरफ्तार किया. टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक, चोरी के सबसे अधिक मामले महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश में सामने आए हैं. जहां महाराष्ट्र में 2.23 लाख गिरफ्तारियां हुईं, वहीं यूपी में 1.22 लाख लोगों को पकड़ा गया. महाराष्ट्र और यूपी के बाद सबसे ज्यादा गिरफ्तारियां मध्य प्रदेश (98,594), तमिलनाडु (81,408) और गुजरात (77,047) में हुईं हैं.

आरपीएफ ने लोगों को पेंड्रोल क्लिप (पटरियों पर लगने वाली कड़ी), फिशप्लेट्स, बोल्ट, ओवरहेड वायर, ट्रेन के कोच की बाथरूम फिटिंग्स, ट्यूबलाइट, पंखे, तौलिए और एसी कोच से कंबल तक चुराते पकड़ा है. नॉर्थ सेंट्रल रेलवे जोन के चीफ पब्लिक रिलेशन ऑफिसर गौरव बंसल ने कहा, पूर्वी यूपी में बदमाश पावर सप्लाई में बाधा डालने के लिए 25,000-वोल्ट के ओवरहेड वायरों पर लोहे की चेन फेंकते हैं और 99.9 फीसदी शुद्ध कॉपर ओवरहेड वायर चुरा लेते हैं. वहीं दूसरे राज्यों में ज्यादातर नशेड़ी ट्रैक पर से पेंड्रोल क्लिप व अन्य पार्ट्स चुराते हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi