Co Sponsor
In association with
In association with
S M L

बाढ़ का कहर: नॉर्थ-ईस्ट का बाकी भारत से रेल संपर्क टूटा

गुवाहाटी से डिब्रुगढ़ तक के लिए हवाई सेवा भी गत 16 जुलाई से बंद पड़ी है

FP Staff Updated On: Aug 14, 2017 10:09 PM IST

0
बाढ़ का कहर: नॉर्थ-ईस्ट का बाकी भारत से रेल संपर्क टूटा

असम, पश्चिम बंगाल और बिहार में बाढ़ की स्थिति को देखते हुए देश के अन्य हिस्सों से पूर्वोत्तर जाने वाली रेल सेवाओं को बुधवार तक के लिए रोक दिया गया है.

पूर्वोत्तर फ्रंटियर रेल के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी (सीपीआरओ) प्रणव ज्योति शर्मा ने एक बयान जारी कर कहा, 'रेलवे बोर्ड ने देश के विभिन्न हिस्सों से पूर्वोत्तर क्षेत्र में आने वाली सभी ट्रेनों को रद्द कर दिया है, जिन्हें 16 अगस्त, 2017 के सुबह दस बजे तक कटिहार या मालदा शहर पहुंचना था.'

बता दें कि बिहार में बाढ़ से 41 लोगों की मौत हो चुकी है. इससे 12 जिलों की 65.37 लाख आबादी प्रभावित हुई है.

शर्मा ने बताया, 'पश्चिम बंगाल, बिहार, असम और पूर्वोत्तर के राज्यों में पिछले 72 घंटों में भारी बारिश के कारण रेल परिचालन बुरी तरह प्रभावित हुआ है क्योंकि उत्तर फ्रंटियर रेलवे के कटिहार और अलीपुरद्वार खण्ड के कई स्थानों में बारिश से रेल पटरियां प्रभावित हुई हैं.'

रविवार को अलग-अलग जगहों पर पटरियों पर पानी भर जाने के कारण 22 ट्रेनों को रद्द करना पड़ा था और 14 अन्य को विभिन्न स्थानों पर रोकना पड़ा था.

लगातार हो रही बारिश के कारण ब्रह्मपुत्र नदी सहित अन्य नदियां पूरी उफान पर है जिसके चलते विभिन्न अंचलों में तटबंध टूटने के कारण राष्ट्रीय राजमार्ग 37 और रेलवे मार्ग के बाढ़ के चपेट में आ जाने के कारण ऊपरी असम का निचली असम से पूरी तरह संपर्क टूट गया है. वही गुवाहाटी से डिब्रुगढ़ तक के लिए हवाई सेवा भी गत 16 जुलाई से बंद हो गई है. इसके कारण बहुत से लोगों को आवागमन को लेकर काफी परेशानियां उठानी पड़ रही है.

सीएम सोनोवाल ने किया बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा

एक तरफ जहां बाढ़ में घर बार डूबने के कारण लोग सुरक्षित स्थानों पर पलायन कर रहे हैं, वहीं असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने सोमवार को डिब्रुगढ़ के बाढ़ पीड़ित अंचलों का दौरा किया. इस दौरान उन्होंने आम जनता से बातचीत करने के साथ ही जन प्रतिनिधियों से बाढ़ की विस्तृत जानकारी ली.

वहीं बिहार में अचानक आए बाढ़ की वजह से सीमांचल के इलाके की स्थिति बिगड़ रही है. हालांकि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रविवार को आपदा को देखते हुए बैठक कर आवश्यक निर्देश अधिकारियों को देने के साथ केन्द्र सरकार को भी पूरी स्थिति से अवगत कराया है. बाढ़ के पानी से त्रस्त लोगों की सहायता के लिए लगभग सभी संबंधित विभाग कार्य में जुट गए हैं.

(साभार: न्यूज़18)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
AUTO EXPO 2018: MARUTI SUZUKI की नई SWIFT का इंतजार हुआ खत्म

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi