विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

राहुल ने पूछा- इतना हंगामा क्यों, मोदीजी के मंत्रियों की चीन यात्रा का क्या?

राहुल ने कहा- देश के पेचीदा मामलों पर जानकारी लेना मेरा काम है.

FP Staff Updated On: Jul 10, 2017 07:39 PM IST

0
राहुल ने पूछा- इतना हंगामा क्यों, मोदीजी के मंत्रियों की चीन यात्रा का क्या?

भारत-चीन में जारी तनाव के बीच चीनी राजदूत से राहुल गांधी की मुलाकात की खबर पर कांग्रेस के हामी भरने के बाद अब राहुल गांधी ने मोर्चा संभाल लिया है. राहुल ने कहा है कि हां वो चीनी राजदूत से मिले थे. सफाई देने के साथ ही मोदी सरकार पर हमला भी बोला है.

राहुल ने ट्वीट किया कि देश से जुड़े पेचीदा मसलों के बारे में जानकारी लेना उनका काम है.

राहुल के टि्वटर अकाउंट से किए गए ट्वीट में लिखा है, 'पेचीदा मसलों पर जानकारी रखना मेरा काम है. मैं चीनी राजदूत, पूर्व राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार, भूटान के राजदूत और उत्‍तर-पूर्व के कांग्रेस नेताओं से मिला था.'

इसके साथ ही राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर भी निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि 'अगर मेरे चीनी राजदूत से मिलने से इतनी समस्या है तो उन्‍हें इस पर जवाब देना चाहिए कि सीमा मसले के दौरान तीन मंत्री चीन की मेहमाननवाजी का लुत्‍फ क्‍यों ले रहे थे?'

कांग्रेस ने सोमवार शाम को स्वीकार किया था कि हां कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी चीनी राजदूत लू झाओहुई से मुलाकात की थी.

कांग्रेस ने कहा कि ये औपचारिक मुलाकात थी, जो वक्त-वक्त पर होती रहती है. कई देशों के राजदूत वक्त-वक्त पर कांग्रेस अध्यक्ष और उपाध्यक्ष से मुलाकात करते रहते हैं.

कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्विटर पर लिखा कि विवाद के बाद भी भारत और चीन में कूटनीतिक संबंध तो हैं. उन्होंने एएनआई से कहा कि राहुल गांधी चीनी राजदूत के अलावा वो भूटानी दूत से भी मिले.

वहीं पार्टी के सोशल मीडिया सेल की हेड राम्या ने कहा कि उनके हिसाब से ये मुलाकात इतना बड़ा मुद्दा नहीं है.

चीनी दूतावास के वेबसाइट पर जारी किया गया था बयान

सोमवार सुबह ही भारत में चीनी दूतावास के आधिकारिक वेबसाइट पर लिखा गया था कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने 8 जुलाई को भारत के चीनी राजदूत लू झाओहुई से मुलाकात की और वर्तमान के द्विपक्षी संबंधों पर विचार साझा किए. इस बयान के बाद विवाद होने लगा और कांग्रेस से सवाल किए जाने लगे.

विवाद होने के बाद चीनी दूतावास की वेबसाइट से इसे हटा लिया गया. और अब कांग्रेस ने इस मुलाकात की खबर पक्की कर दी है.

भारत और चीन में पिछले कुछ हफ्तों से सीमा विवाद को लेकर तनाव बना हुआ है. इस बीच भारत सरकार के तीन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर, महेश शर्मा और जेपी नड्डा चीन यात्रा पर जा चुके हैं और पिछले हफ्ते पीएम मोदी अपने चीनी समकक्ष शी जिनपिंग से जर्मनी में हुए जी 20 सम्मेलन में मिले थे और हाथ मिलाया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi