S M L

हरिद्वार से पटना तक राफ्टिंग करेगा 'मिशन गंगे' अभियान, बछेंद्री पाल करेंगी अगुवाई

करीब एक महीने तक चलने वाले इस राफ्टिंग अभियान 'मिशन गंगे' में सफर करने वाला ग्रुप नदियों से होते हुए हरिद्वार से पटना तक जाएगा

Updated On: Oct 04, 2018 02:33 PM IST

FP Staff

0
हरिद्वार से पटना तक राफ्टिंग करेगा 'मिशन गंगे' अभियान, बछेंद्री पाल करेंगी अगुवाई

माउंट एवरेस्ट फतह करने वाली भारत की पहली महिला पर्वतारोही बछेंद्री पाल के नेतृत्व में ‘मिशन गंगे’ अभियान शुरू किया जाएगा. आज प्रधानमंत्री मोदी ने इसकी घोषणा की. इस अभियान में गंगा नदी की साफ-सफाई को लेकर जागरूकता फैलाने पर जोर दिया जाएगा. करीब एक महीने तक चलने वाले इस राफ्टिंग अभियान 'मिशन गंगे' में सफर करने वाला ग्रुप नदियों से होते हुए हरिद्वार से पटना तक जाएगा. इस सफर के दौरान बिजनौर, नरोरा, फर्रुखाबाद, कानपुर, इलाहाबाद, वाराणसी और बक्सर में हॉल्ट किया जाएगा. इन सभी 9 शहरों में इस अभियान में हिस्सा लेने वाले ग्रुप के लोग जनता को गंगा को साफ रखने के लिए जागरूक करेंगे. पीएम मोदी ने आज बताया कि इस अभियान में करीब 40 लोग हिस्सा लेंगे जिसमें 20 महिला और 20 पुरुष शामिल हैं. इन सभी लोगों को राफ्टिंग में अच्छा अनुभव प्राप्त है. इस अभियान का उद्देश्य गंगा नदी को साफ रखने के लिए आम लोगों को जागरूर करना है. इस ग्रुप में 8 पर्वतारोही भी शामिल होंगे जिसकी अगुवाई बछेंद्री पाल करेंगी. यह अभियान हरिद्वार में 05 अक्टूबर 2018 को शुरू होगा और पटना में 30 अक्टूबर 2018 को समाप्त होगा.

इस अभियान के तहत 27 दिन में हरिद्वार से पटना की 1500 किमी की दूरी राफ्टिंग के जरिए तय की जाएगी. इस ग्रुप को उनके अभियान के लिए पांच राफ्ट मिली हैं. यह अभियान हरिद्वार (5 से 7 अक्टूबर) से शुरू होगा और फिर कानपुर (15 से 17 अक्टूबर), इलाहबाद (19 से 21 अक्टूबर) और वाराणसी (23 से 25 अक्टूबर) से होता हुआ पटना (29 से 30 अक्टूबर) में समाप्त होगा. आपको बता दें कि बछेंद्री पाल के अलावा 7 महाद्वीप की सबसे ऊंची चोटियों को फतह करने वाली पहली भारतीय महिला और पद्म श्री से सम्मानित प्रेमलता अग्रवाल भी इस अभियान का हिस्सा होंगी.

40 सदस्यों की यह टीम विभिन्न शहरों में अपने अभियान के दौरान स्कूली छात्रों और स्थानीय लोगों से मिलेगी और स्वच्छता कार्यक्रम चलाने के साथ साथ लोगों को गंगा को साफ रखने के लिए जागरूक भी करेगी. इस अभियान में स्थानीय प्रशासन और कई गैर सरकारी संस्थाएं भी मदद करेंगी. बछेंद्री ने इस अभियान को लेकर कहा कि यह अभियान भारत सरकार के नमामी गंगे मिशन से प्रेरित है. टीम का पूरा ध्यान इस दौरान साफ-सफाई और लोगों को इसे लेकर जागरूक करने पर होगा. आपको बता दें कि यह अभियान टाटा स्टील एडवेंचर फाउंडेश की पहल है जिसकी प्रमुख बछेंद्री पाल हैं. इस अभियान को गंगा की सफाई के लिए राष्ट्रीय मिशन (एनएमसीजी) का समर्थन भी हासिल है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi